DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई नियमावली से छंटेंगे वरीय डॉक्टर

बिहार चिकित्सा शिक्षा सेवा (भर्ती एवं सेवा शर्त) की तैयार की गयी नई नियमावली 2008 में स्वास्थ्य सेवा के वरीय एवं योग्य चिकित्सकों का शैक्षणिक संवर्ग में प्रवेश ही अवरुद्ध हो जाएगा। ऐसा उम्र सीमा के कारण होगा। नई नियमावली मंत्रिमंडल के पास स्वीकृति के लिए भेज दी गयी है।ड्ढr ड्ढr संभावना है कि मंगलवार की बैठक में इसे स्वीकृति मिल जाए। 1े स्थान पर तैयार नई नियमावली में बिहार चिकित्सा शिक्षा सेवा को बिहार स्वास्थ्य सेवा से पूरी तरह से अलग कर दिया गया है। नियमावली में बिहार चिकित्सा शिक्षा सेवा संवर्ग में स्थायी प्रवेश बिन्दु सहायक प्राध्यापक के पद से होगी। सहायक प्राध्यपक की पात्रता विषय विशेष में स्नातकोत्तर उपाधि के बाद विषय विशेष में चार वर्षो का सीनियर रजिडेंटट्यूटर के पद का शैक्षणिक अनुभव के साथ एक वर्ष की ग्रामीण सेवा अनिवार्य होगी। सहायक प्राध्यापक के पद के लिए अनारक्षित वर्ग (45 वर्ष), पिछड़ाअतिपिछड़ा वर्ग 48 वर्ष, महिला 48 वर्ष और अनुसूचित जातिजनजाति के लिए 50 वर्ष की उम्र सीमा होगी। उम्र सीमा के लागू होने से पूरा एक संवर्ग ही प्रभावित हो जाएगा।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: नई नियमावली से छंटेंगे वरीय डॉक्टर