DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब मुखियों को भी मिलेंगे कम्प्यूटर

मुखियाजी को अब पंचायतों को लेकर किसी बड़ी उलझन में फंसने पर घबराने की जरूरत नहीं है। बस वे फोन लगाएं और उलझन का जवाब पा जाएं। फोन कॉल भी फ्री रहेगा। पंचायत राज प्रतिनिधियों के लिए राज्य सरकार जल्दी ही हेल्पलाइन की सुविधा शुरू करने जा रही है। इसके अलावा पंचायतों के कामों को निपटाने के लिए उन्हें कम्प्यूटर भी मिलने वाला है। फोन और कम्प्यूटर के माध्यम से सरकार अब उनकी मदद के लिए हर वक्त तैयार रहेगी। इसके तहत जल्दी ही एक टॉल फ्री नंबर सार्वजनिक किया जाएगा। इसपर बात करके पंचायती राज से जुड़ी किसी भी तरह की जानकारी ली जा सकती है। पंचायती राज विभाग के आधिकारिक सूत्रों के अनुसार भारत सरकार के पंचायती राज मंत्रालय के निर्देश पर यह कदम उठाया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr पहले चरण में इसपर एक करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इसे लागू करने की जिम्मेवारी बेलट्रॉन को सौंपी जाएगी। विभाग के अनुसार अभी भी पंचायती राज प्रतिनिधि अपने अधिकारों और कार्यो को लेकर कई बार परशानी में पड़ जाते हैं। कई बार अधिकारियों के कारण भी उन्हें दिक्कत होती है। ऐसी स्थिति में ये प्रतिनिधि हेल्पलाइन पर फोन करके अपनी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं। मात्र यही नहीं आम लोग भी पंचायतों को लेकर इससे जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इसके साथ ही राज्य सरकार हर पंचायत को एक कम्प्यूटर देने जा रही है। इसके माध्यम से पंचायतों के काम को आसान बनाया जाएगा। दूसरी तरफ राज्य सरकार बड़े पैमाने पर पंचायती राज प्रतिनिधियों को प्रशिक्षित करने की भी योजना बना रही है। इस पर पांच करोड़ रुपये खर्च होंगे और इसकी जिम्मेवारी बिहार लोक प्रशासन एवं ग्रामीण विकास संस्थान (बिपार्ड) को सौंपी जाएगी।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: अब मुखियों को भी मिलेंगे कम्प्यूटर