अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पीयू में खुलेंगी दो और कंप्यूटर प्रयोगशालाएं

पटना विवि को आधुनिक बनाने की कवायद शुरू कर दी गयी है। अब यहां पर दो और कंप्यूटर प्रयोगशालाओं के निर्माण की योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। आईटी से नजदीकी रखने वाले प्रति कुलपति डा. एसआई अहसन इस दिशा में काफी प्रयास कर रहे हैं। उनके प्रयास से विश्वविद्यालय में एमसीए कोर्स को एकेडमिक काउंसिल की बैठक में स्वीकृति प्रदान की गयी। अब विश्वविद्यालय में कंप्यूटर के प्रयोग और बढ़ाया जाए और छात्रों को नयी तकनीक के बार में अधिक से अधिक जानकारी हासिल हो सके इसका प्रयास किया जा रहा है।ड्ढr ड्ढr पटना विवि में अभी एक ही कंप्यूटर लैब है। इस कारण सभी छात्रों को कंप्यूटर फ्रेंडली बनाना संभव नहीं हो सका है। नए सत्र में छात्रों को कंप्यूटर से जोड़ने की योजना बनायी जा रही है। स्नातकोतर स्तर के सभी छात्रों को कंप्यूटर की शिक्षा की व्यवस्था की जा रही है। सूत्रों की मानें तो सभी विषयों के स्नातकोतर छात्रों को कंप्यूटर में पारंगत बनाया जाएगा। साथ ही विवि प्रशासन द्वारा सांख्यिकी विभाग में स्थित कंप्यूटर प्रयोगशाला का प्रयोग मास्टर इन कंप्यूटर एप्लीकेशन पाठय़क्रम के लिए करने का निर्णय लिया गया है। इस नए पाठय़क्रम को अगले सत्र से शुरू किया जाएगा। अन्य दो कंप्यूटर प्रयोगशाला का उपयोग अन्य कंप्यूटर से जुड़े पाठय़क्रमों के लिए किया जाएगा। साथ ही अन्य विभागों के छात्रों को भी इससे फायदा पहुंचेगा। इसके अलावा चार कॉलेजों में चल रहे बीसीए व बीबीए कोर्स को लेकर कंप्यूटर प्रयोगशालाओं को दुरूस्त करने की भी व्यवस्था की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पीयू में खुलेंगी दो और कंप्यूटर प्रयोगशालाएं