अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रीडर बनने के लिए ओरिएंटेशन कोर्स जरूरी

सरकार ने यूजीसी करियर एडवांसमेंट योजना के लिए अर्हता का निर्धारण कर दिया है। इसके लिए वित्त की मंजूरी मिल गयी है। अब मामला कैबिनेट में रखा जायेगा। शिक्षक से रीडर बनने के लिए कम से कम एक ओरिएंटेशन पाठ्यक्रम पूरा करना अनिवार्य कर दिया गया है।ड्ढr व्याख्याता से वरीय ग्रेड में प्रोन्नति के लिए दो रिफ्रेशर पाठ्यक्रम जरूरी होगा। वरीय ग्रेड से सेलेक्शन ग्रेड में जाने के लिए दो अतिरिक्त रिफ्रेशर कोर्स जरूरी है। पीएचडी धारकों को एक रिफ्रेशर कोर्स की छूट होगी। लेकिन हर चार-पांच वर्ष पर एक रिफ्रेशर कोर्स करना जरूरी होगा। अंतरराष्ट्रीय शोध पत्रिका में शोध पत्र प्रकाशित नहीं होने पर प्रोन्नति के समय उसकी भरपाई रिफ्रेशर कोर्स से हो सकती है। एक ओरिएंटेशन और रिफ्रेशर के बीच एक वर्ष का अंतराल होना जरूरी है। पीएचडी पास शिक्षकों को चार साल में, एमफील पास को पांच साल में और सामान्य शिक्षकों को छह साल में सीनियर स्केल का लाभ दिया जायेगा। इसके तहत उन्हें रीडर का वेतनमान तो मिलेगा, लेकिन पद व्याख्याता का ही होगा। रीडर को आठ वर्ष के अनुभव पर प्रोफेसर का स्केल दिया जायेगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: रीडर बनने के लिए ओरिएंटेशन कोर्स जरूरी