अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यौन शिक्षा के पीछे गहरी साजिश : छाया

ऑल इंडिया महिला सांस्कृतिक संगठन (एआइएमएसएस) की राष्ट्रीय अध्यक्ष छाया मुखर्जी ने यौन शिक्षा को साजिश बताया। उन्होंने कहा कि सरकार एड्स सहित अन्य रोगों के नाम पर स्कूली स्तर पर यौन शिक्षा लागू करने की गहरी साजिश कर रही है। छाया मुखर्जी रविवार को विधायक आवास सभागार में यौन शिक्षा के विरोध में एआइएमएसएस, एआइडीएसओ एवं एआइडीवाइओ के संयुक्त अधिवेशन को संबोधित कर रही थींड्ढr उन्होंने कहा कि यौन शिक्षा के नाम पर स्कूली बच्चों को अश्लील बातों से भरी पुस्तकें उपलब्ध करायी जा रही हैं। यह शिक्षा व्यवस्था अमेरिका और ब्रिटेन में लागू की गयी है, जहां किशोरावस्था में गर्भधारण और यौन हिंसा में लगातार वृद्धि हो रही है। असुरक्षित यौन शोषण से एड्स होने की बात भ्रामक है। यौन शिक्षा का हर स्तर पर विरोध होना चाहिए।ड्ढr रांची विवि के पूर्व कुलपति डॉ एमके हसन ने कहा कि यौन शिक्षा पूंजीवादी व्यवस्था की देन है। इसकी शिक्षा बच्चों को नहीं, उनके माता-पिता को दी जानी चाहिए। पाठय़क्रम में यौन शिक्षा से संबंधित जो चित्र दर्शाये गये हैं, उससे अनैतिकता फैलेगी। झारखंड में भी इसे लागू करने का घिनौना खेल चल रहा है। यौन शिक्षा पाठय़क्रम को जला देना चाहिए। अधिवेशन में प्रस्ताव पारित कर इसके सार्वजनिक विरोध की अपील की गयी। अधिवेशन में लीली दास, कुमुद महतो, सुभाष गुप्ता, अमित कुमार ने भी विचार रखे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: यौन शिक्षा के पीछे गहरी साजिश : छाया