DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

आचार संहिता का उल्लंघन!

लोकसभा चुनाव की अधिसूचना जारी होते ही निर्वाचन आयोग ने भले ही आचार संहिता उल्लघंन के मामले को गंभीरता से लिया हो और पूर प्रदेश में अबतक साढ़े पांच सौ से ज्यादा मामले दर्ज किये जा चुके हो, पर निर्वाचन आयोग की सख्ती मनेर में लागू नही होती। यहां प्रखंड कार्यालय दफ्तर में ही निर्वाचन आयोग की अनुशंसा को मुंह चिढ़ाती एक होर्डिग लगा है। इसमें मुख्यमंत्री की तस्वीर लगी है। भूमि अधिग्रहण से जुड़ी बिहार सरकार की नीति के साथ-साथ मुख्यमंत्री की मुस्कुराती तस्वीर मानों एक पार्टी विशेष की प्रचार कर ही हो। पूर प्रखंड क्षेत्र में आचार संहिता के मामले को देखने वाले प्रखंड सह अंचल पदाधिकारी निरांन कुमार के कार्यालय के सामने ही लगी थी होडिंग। अंचलाधिकारी सह उप निर्वाची पदाधिकारी की निष्पक्षता को संदेह के घेर में लाती है।ड्ढr ड्ढr प्रखंड कार्यालय पहुंचा नवयुवक राजेश ने इस मुद्दे पर बताया कि यहां तो बीडीओ और उनके शार्गिद खुद आचार संहिता का मखौल उड़ा रहे हैं, इनसे मतदान के दिन निष्पक्षता की क्या उम्मीद की जाए। इस संदर्भ में दानापुर के एसडीओ आदेश तितरमार ने कहा कि प्रखंड कार्यालय में मुख्यमंत्री की तस्वीर वाली होर्डिग लगे रहने की जांच होगी और नियमानुसार कार्रवाई होगी। देखना है कि जब ऐसी गलती होने पर राजनीतिक दलों से जुड़े लोगों पर सीधे प्राथमिकी दर्ज करा दी जाती है तो फिर प्रखंड के प्रशासनिक अधिकारी की गलती पर क्या कार्रवाई करती है?ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: आचार संहिता का उल्लंघन!