अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप की समीक्षा का निर्देश

राज्य सरकार ने दलित छात्रों को मिलने वाली पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप की समीक्षा करने का निर्देश दिया है। यह स्कॉलरशिप केन्द्र सरकार उन दलित छात्रों को देती है जो मैट्रिक की परीक्षा पास करने के बाद आगे पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं।ड्ढr ड्ढr राज्य के अनुसूचित जाति-ानजाति कल्याण मंत्री जीतनराम मांझी ने जानकारी दी कि उन्होंने विभाग के अधिकारियों से कहा है कि वे वस्तुस्थिति से उन्हें अवगत कराएं। दरअसल केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री रघुवंश प्रसाद सिंह ने पिछले दिनों आरोप लगाया था कि राज्य सरकार की सुस्ती के कारण दलित छात्रों को यह स्कॉलरशिप नहीं मिल पा रही है। राजधानी में आयोजित एक दलित सम्मेलन में श्री सिंह ने आरोप लगाया था कि वर्ष 2006-07 में केन्द्र सरकार ने मैट्रिक पास करने वाले दलित छात्रों की स्कॉलरशिप के लिए 32 करोड़ रुपये दिए थे लेकिन राज्य सरकार उसे खर्च नहीं कर पाई। इसके कारण वर्ष 2007-08 में केन्द्र सरकार से बिहार को कोई पैसा नहीं मिला।ड्ढr ड्ढr वर्ष 2008-0में भी पैसा नहीं मिलने के ही आसार हैं। इस मामले में पूछे जाने पर मंत्री श्री मांझी ने बताया कि उन्होंने इस मामले में पूरी जानकारी उपलब्ध कराने का आदेश विभाग के अधिकारियों को दिया है। जानकारी मिलते ही जरूरी कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप की समीक्षा का निर्देश