अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधायक सुनीता देवी मामला: पूर्व अंगरक्षक समेत तीन पर मुकदमा

ोढ़ा की विधायक सुनीता देवी ने पूर्व अंगरक्षक बाल योगेश्वर शर्मा उर्फ लाली एवं उनके अन्य दो सहयोगियों आनंद मूर्ति राय एवं डा. महेंद्र राय के विरुद्ध कटिहार के मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी राजेंद्र प्रसाद सिंह के न्यायालय में परिवाद पत्र दायर करते हुए आरोपी बनाया है। विधायक के परिवाद पर सुनवाई के बाद सीजेएम श्री सिंह ने मामले की जांच के लिए मुकदमे को नियमानुसार प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी नरंद्र प्रसाद के न्यायालय में स्थानांतरित किया है। जांच साक्ष्य की प्रक्रिया पूरी होने के बाद ही आरोपियों के विरुद्ध संज्ञान की बिंदु पर सुनवाई की संभावना है।ड्ढr ड्ढr बतौर परिवादिनी विधायक सुनीता देवी ने परिवाद में अभियोग लगाया है कि कोढ़ा विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित होने के बाद उनके अंगरक्षक के रूप में लाली को नियुक्त किया गया। उन्होंने कहा कि विश्वस्त होने की वजह से लाली सभी जगह शरीक रहने लगा और इसी का षड्यंत्रपूर्ण लाभ लेने का प्रयास करने लगा। उस पर शंका तब हुई जब विधायक के कटिहार एवं पटना स्थित आवास से रुपये एवं जेवरात की चोरी हो गयी।ड्ढr ड्ढr विश्वस्त होने की वजह से एक के बाद एक हुई चोरी का मामला उन्होंने इसलिए दर्ज नहीं कराया कि उन्हें महा उस पर शंका थी। उन्होंने इसकी शिकायत जब पुलिस के आला अधिकारी से की तो उसे उनके अंगरक्षक से हटा दिया गया। तब से षड्यंत्र के तहत निहित हित साधने के लिए लाली अपने अन्य साथियों के साथ रंगदारी में दस लाख रुपये की मांग करने लगा और नहीं देने पर प्रतिष्ठा धूमिल करने की धमकी देने लगा। हथियार के बल पर लाली ने रलवे आवास कटिहार में पति के समक्ष पचास हाार रुपये भी लिये।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: विधायक सुनीता देवी मामला: पूर्व अंगरक्षक समेत तीन पर मुकदमा