DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सांसद-विधायक से लेकर एसपी तक हो चुके हैं शहीद

झारखंड में नक्सली हिंसा में सांसद-विधायक से लेकर एसपी-डीएसपी तथा कई जवान शहीद हो चुके हैं। अलग राज्य बनने से ठीक पहले अक्तूबर 2000 में लोहरदगा के एसपी अजय कुमार सिंह नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। उसके बाद से अब तक 430 से अधिक सीआरपीएफ और पुलिस के जवान शहीद हो चुके हैं।

इस सूची में सांसद सुनील महतो, विधायक महेंद्र प्रसाद सिंह और रमेश सिंह मुंडा के अलावा करीब पांच सौ आम लोग भी शामिल हैं। पिछले साल दो जुलाई को पाकुड़ एसपी अमरजीत बलिहार भी नक्सली हमले में शहीद हो गए थे।

इसके अलावा चतरा के एसडीपीओ विनय भारती, बुंडू के डीएसपी प्रमोद कुमार भी नक्सली हिंसा में शहीद हुए। चतरा में एएसपी अभियान आरआर मिश्रा और सीआरपीएफ के सहायक कमांडेंट एके मिश्रा भी विस्फोटकों से जख्मी हुए थे। इस घटना में एसडीपीओ रिजवी बाल-बाल बचे थे, जबकि अंगरक्षक घायल हुए थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सांसद-विधायक से लेकर एसपी तक हो चुके हैं शहीद