DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी बना नरक, बारिश से सड़क पर चलना दुभर

वरीय संवाददाता पटना। राजधानी में दो दिनों से हो रही बारिश से कई प्रमुख चौक-चौराहे और मोहल्लों में जलजमाव हो गया। नालियों का पानी घरों में घुसा, तो लोगों का बाहर निकलना मुश्किल हो गया। कंकड़बाग, राजेन्द्रनगर, दीघा, रामनगरी, शविपुरी, राजीवनगर, पुनाईचक, गर्दनीबाग, शास्त्रीनगर, पटेलनगर सहित कई इलाकों में जलजमाव से लोग त्रस्त हो गये हैं।

दूसरी ओर शहर के कई इलाकों में सड़क पर पुल और नाली निर्माण से मिट्टी की फिसलन और किचकिच बढ़ी है। बेली रोड के जगदेव पथ से राजा बाजार, हाईकोर्ट से वेस्ट बोरिंग रोड मोड़, जीपीओ गोलंबर से स्टेशन रोड तक सड़क के किनारे अथवा बीच में निर्माण कार्य चल रहा है।

नगर निगम की खुली पोल बरसात से पहले निगम जिन तैयारियों का दावा कर रहा था, उसकी पोल खुल गयी है। शहर में नियमित रूप से कचरे का उठाव नहीं हो रहा। प्रत्येक चौक-चौराहे पर कचरे का ढेर जमा है। बारिश के पानी के साथ कचरा मिलने से और प्रदूषण बढ़ रहा है। राजेंद्र नगर स्टेशन से आगे धनुष पुल के नीचे घुटने भर से ज्यादा पानी जमा है। पानी में चारो ओर कचरा फैला हुआ है। पैदल गुजरना तो दूर, गाड़ी लेकर चलना भी मुश्किल हो रहा है।

राजधानी में जलजमाव कंकड़बाग : मलाही पकड़ी से हनुमान नगर जाने वाली सड़क -दुकानों के आगे पानी जमा है। दुकानदार किसी तरह दुकान खोल रहे हैं। पर ग्राहकों के दर्शन नहीं होते। इससे दुकानदारी प्रभावित हो रही है। कांटी फैक्ट्री : महात्मा गांधी रोड-सड़क पर पानी जमा है। एक तो सड़क पर पहले से ही गड्ढे हैं। ऊपर से पानी भरने से पैदल चलना भी मुश्किल है। भागवत नगर : लिट्रा वैली स्कूल की बगल वाली सड़क -जलजमाव से सबसे ज्यादा परेशानी बच्चों को उठानी पड़ रही है।

ऑटो से जाने वाले बच्चों इस बात से डरे रहते हैं कि कहीं ऑटो से गिर न जाएं। दीघा : पोस्ट ऑफिस रोड और पार्टी पुल रोड -सड़क पर कीचड़ जमा है। फिसलन के कारण दुर्घटना होने की आशंका है। एक्सटीटीआई रोड -लोगों के घरों में नाली का पानी घुस गया है। सड़क का कचरा भी घरों में प्रवेश कर रहा है। पानी निकासी का कोई रास्ता ही नहींराजधानी के कई इलाकों में पानी निकासी का रास्ता ही नहीं है।

दीघा से लेकर रामनगरी, एसके पुरी, राजीवनगर, शविपुरी, पुनाईचक, गर्दनीबाग, शास्त्रीनगर, डीएवी बिजलीबोर्ड, पटेल नगर के कई इलाकों में बारिश का पानी भर गया है। नगर निगम ने बरसात से पहले नाली उड़ाही का काम चलाया, पर इसका भी असर देखने को नहीं मिल रहा है। पुनाईचक के शविपुरी इलाके में बॉक्स नाला बनाया गया है। लेकिन नाला को सड़क से इतना ऊंचा बनाया गया है कि पानी निकासी संभव ही नहीं है। स्थानीय लोगों का मानना है कि बारिश तेज होने पर भीषण जलजमाव हो सकता है। इससे तो उनकी जिंदगी ही ठहर जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजधानी बना नरक, बारिश से सड़क पर चलना दुभर