DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाठी चार्ज का विरोध, सीएम का पुतला फूंका

बक्सर हिन्दुस्तान संवाददाता। पटना में अपनी मांगों के समर्थन में शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे सांख्यिकी स्वयं सेवक संघ (एएसवी) के कार्यकर्ताओं पर हुई लाठीचार्ज के विरोध में कार्यकर्ताओं ने गुस्सा है। शुक्रवार को एएसवी के कार्यकर्ताओं ने अम्बेडकर चौक पर मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन कर विरोध जताया।

इस दौरान सांख्यिकी स्वयं सेवकों ने राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मुख्यमंत्री मुर्दाबाद, नीतीश कुमार मुर्दाबाद, तानाशाही नहीं चलेगी, हमारी मांगे पूरी करो जैसे नारे से अम्बेडकर चौक गूंजता रहा। इस मौके पर आयोजित सभा में कार्यक्रम का नेतृत्व कर रहे संघ के उपाध्यक्ष राजीव रंजन व संघ के जिला सचवि जितेंद्र श्रीवास्तव ने कहा कि बिहार सरकार ने सांख्यिकी कर्मियों को साल में कम से कम साठ हजार रुपए तक का काम देने का वादा किया था।

अब सरकार अपने वायदे से मुकर रही है। सरकार के रवैया के चलते 72 हजार सांख्यिकी कर्मी बेरोजगार हो गये हैं। उन्होंने कहा कि जब हम अपना हक मांगने पटना गये तो लाठियां बरसाने का फरमान सरकार ने जारी कर दी। सरकार की तानाशाह रवैया और उसकी लाठी से डरने वाले नहीं है।

हम अपना हक लेकर रहेंगे। मौके पर प्रेम कुमार सिंह, पुनीत सिंह, संतोष सिंह, चितरंजन तिवारी, अरूण मिश्र, अमित नारायण, मिथिलेश कुमार गुप्ता, राकेश शुक्ला, प्रदीप मिश्र, अरूण कुमार, संजीव कुमार, वमिलेश पांडेय, अजय, बिनोद, गणेश कुमार आदि उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लाठी चार्ज का विरोध, सीएम का पुतला फूंका