DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

धारचूला के दूरस्थ क्षेत्रों में पहली बार पहुंचे डॉक्टर

देहरादून। विशेष संवाददाता। धारचूला के दूरस्थ व्यास व दारमा घाटियों और मुनस्यारी क्षेत्र के आसपास बसे लोगों को उनके गांव के आसपास ही स्वास्थ्य सेवाएं मिलने लगी हैं। ये सरकारी डाक्टर जरूरी दवाईयों के साथ गूंजी, घुग्तू और मार्तोली में रहकर क्षेत्र के ग्रामीण लोगों को चिकित्सीय सेवाएं देने लगे हैं। धारचूला के दूरस्थ इलाकों में संभवत: पहली बार सरकारी डाक्टर को भेजने का प्रयोग सफल रहा है। इन डाक्टरों को हेलीकॉप्टर से इन तीनों स्थानों पर मय जरूरी दवाइयों फार्मेसिस्ट के साथ वहां भेजा गया है।

अभी तक इन तीनों दुर्गम और दूरस्थ घाटियों में रहने वाले लोगों के लिए वहां चिकित्सीय व्यवस्था नहीं थी। पहली बार इन स्थानों के लोगों को क्षेत्र में इलाज की सुविधा दी गई है। तीनों घाटियों के लिए एक-एक फीजशिियन फार्मेसिस्ट के साथ भेजा गया है। तीनों घाटियों के लिए एक-एक डाक्टर एक माह वहां अपनी सेवाएं देंगे। ये डॉक्टर पिथौरागढ़ अस्पताल से भेजे गए हैं। इससे पहले गूंजी में केवल आईटीबीपी का डाक्टर था। गूंजी में छियालेक, नपलच्यू, गव्र्याग, नाम्बी गांव आते हैं। सुभाष कुमार, मुख्य सचिव

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:धारचूला के दूरस्थ क्षेत्रों में पहली बार पहुंचे डॉक्टर