DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पहले जुमे पर मस्जिदों में उमड़ी रोजेदारों की भीड़

हिरद्वार। हमारे संवाददाता। माहे रमजान के पहले जुमे पर उपनगरी ज्वालापुर समेत ग्रामीण क्षेत्र स्थित मस्जिदों में मुस्लिम भाइयों ने नमाज अदा कर देश में अमन चैन की दुआ मांगी। देश में आपसी भाइचारा और सौहार्द के लिए एक दूसरे को बधाई दी। पहले जुमे पर रोजेदारों में उत्साह देखा गया। रोजेदार सुबह से नमाज की तैयारियों में जुट गए थे। नमाज अदा करने को लेकर विभिन्न मस्जिदों में रोजेदार मुस्लिम भाइयों की भीड़ उमड़ी। मस्जिदों के बाहर सड़कें जाम हो गईं।

व्यापारियों ने भी मुस्लिम भाइयों को भरपूर सहयोग दिया। हाफिज कुतुबद्दीन ने रोजेदारों को नसीहत देते हुए कहा कि रोजा भूखे मरने से नहीं होता। रोजा रखने के लिए अनेक इबादतें करनी होती हैं। शरीर के सभी अंगों का रोजा होता है। रोजेदारों को झूठ, फरेब और बुराइयों से दूर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि शब्बे कद्र की इबादत 70 हजार रातों की इबादतों का अफजल है। रोजेदार को एक के बदले 70 नेकियां खुदा देता है। रोजे के दौरान आंख, कान, जुबान को काबू रखकर कुरान की ितलावत करनी चाहिए।

पहले जुमे पर जुमा मस्जिद, मदीना मस्जिद, मंडी की मस्जिद, कुबा मस्जिद, खजूरवाली मस्जिद, अक्सा मस्जिद आदि की गई। नमाज अदा करने वालों में हाफिज मनव्वर, मुत्तवल्ली हाजी सफदर राव, राव हाफिज, आसिफ मिस्तद के खिजमतकार वजाहत हुसैन, राव संजीद, राव नईम खान, फीकरा खान, शाही इमाम हाफिज अली आदि शामिल थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पहले जुमे पर मस्जिदों में उमड़ी रोजेदारों की भीड़