DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

कांठ: लाउडस्पीकर नहीं लगने तक लड़ाई रहेगी जारी

कांठ: लाउडस्पीकर नहीं लगने तक लड़ाई रहेगी जारी

तीन दिन पहले प्रशासन को कानोंकान भनक कराए बिना चुपके से कांठ के अकबरपुर चैदरी गांव में पहुंचकर लोगों का हालचाल पूछने वाली साध्वी प्राची शुक्रवार को भाजपाइयों के साथ ही महापंचायत के लिए कूच करने वालों में शामिल थीं।

कांठ में दोपहर बाद लोगों की भीड़ द्वारा पुलिस पर किए पथराव को साध्वी ने जनाक्रोश का नतीजा बताया। उन्होंने अकबरपुर चैदरी गांव के धर्मस्थल पर लाउडस्पीकर दोबारा लगाए जाने तक लड़ाई जारी रखने का ऐलान किया। साथ ही पुलिस द्वारा गिरफ्तार बेकसूर लोगों को तत्काल रिहा करने की मांग की।

राष्ट्रीय हिन्दू मंच की अध्यक्ष साध्वी प्राची महापंचायत के लिए मुहिम में खुलकर कूदीं। भाजपाइयों के साथ ही उन्हें भी पुलिस ने वहां जाते समय हिरासत में ले लिया और पुलिस लाइन में बनाए अस्थायी जेल में ले आई। शाम पांच बजे हिरासत से रिहा होने के बाद साध्वी ने ‘हिन्दुस्तान’ से खुलकर बात की। दोपहर बाद पुलिस पर लोगों की तरफ से किए पथराव के बाबत उन्होंने बेबाकी से कहा कि प्रशासन के खिलाफ जनाक्रोश के नतीजे में हुआ है। लोगों को अपने अधिकारों के हनन की टीस है। वहां धर्मस्थल पर लगे लाउडस्पीकर को हटवाकर प्रशासन ने सरासर गलत फैसला लिया। उन्होंने प्रशासन पर लोगों के पूजा पाठ करने के अधिकार का हनन करने का आरोप लगाया। साध्वी प्राची ने कहा कि जब तक लाउडस्पीकर नहीं लगाया जाता और गिरफ्तार बेकसूर लोग रिहा नहीं किए जाते तब तक यह लड़ाई जारी रहेगी। हम खामोश नहीं बैठेंगे। आंदोलन चलता रहेगा।      

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:कांठ: लाउडस्पीकर नहीं लगने तक लड़ाई रहेगी जारी