DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सरकार ने बनाई नई पॉलिसी, डीटीपीई देंगे अनुमति

साइबर सिटी लाइसेंसी बिल्डर कॉलोनियों में अब मनमर्जी से गलियों और सड़कों पर गेट लगाना आसान नहीं होगा। सरकार ने इसके लिए नई योजना बनाई है। गेट लगाने के लिए पहले जिला नगर योजनाकार इंफरेसमेंट विभाग से अनुमति लेनी पड़ेगी। जो भी बिल्डर या आरडब्ल्यूए बिना अनुमति गेट लगाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। नई योजना के तहत सिर्फ बूम बैरियर लगाने की ही अनुमति मिलेगी। इससे अलग सभी तरह के गेट प्रतिबंधित होंगे।

शहर के बिल्डर लाइसेंसी कॉलोनियों में गलियों और सड़कों के दोनों तरफ सुरक्षा के लिए गेट लगाने से पहले लोगों को अनुमति लेनी पड़ेगी। जिन लोगों ने पहले से ही गेट लगाए हुए हैं उन्हें भी इसकी जानकारी डीटीपीई विभाग को देनी होगी। विभाग के अधिकारी अगस्त माह से ऐसे गेटों को हटवाने का अभियान शुरू करेंगे जाे विभाग की अनुमति या उसे सूचना दिए बिना लगाए गए हैं।

24 मीटर रोड पर ही मिलेगी अनुमति
लाइसेंसी कॉलोनियों में सिर्फ 24 मीटर या इससे चौड़ी रोड पर ही बूम बैरियर लगाने की अनुमति दी जाएगी। इससे कम चौड़ी और सेक्टर डिवाइडिंग रोड पर बूथ बैरियर लगाने की अनुमति नहीं होगी। बूम बैरियर लगाने का पूरा खर्च आवेदनकर्ता द्वारा उठाया जाएगा। साथ ही वहां पर 24 घंटे के लिए गॉर्ड की तैनाती भी करनी होगी। किसी को भी बड़े गेट लगाने की अनुमति नहीं मिलेगी।

अनुमति पर कमेटी करेगी फैसला
बूम बैरियर के लिए आवेदन डीटीपीई ऑफिस में करना होगा। अनुमति देने या न देने पर फैसला बनाई गई प्रशासनिक कमेटी करेगी। इस कमेटी का चेयरमैन उपायुक्त को बनाया गया है। इसमें संबंधित क्षेत्र के डीसीपी, वरिष्ठ नगर योजनागर, जिला नगर योजनाकार इंफोर्समेंट को सदस्य के तौर पर शामिल किया गया है। कमेटी उस क्षेत्र में रहने वाले लोगों से इस संबंध में बात करेगी। अगर किसी को आपत्ति नहीं होगी तभी बूथ बैरियर लगाने की अनुमति दी जाएगी। अनुमति के लिए संबंधती क्षेत्र का बिल्डर ही आवेदन कर सकता है। आरडब्ल्यूए आवेदन करना चाहती है तो वह अपनी मांग बिल्डर के द्वारा ही डीटीपीई विभाग तक पहुंचाएगी।

वर्जन
जिन लाइसेंसी कॉलोनियों में पहले से गेट लगे हुए हैं वो इसकी जानकारी डीटीपीई विभाग को दें। जिन्होंने अभी लगाने हैं वो फॉर्म भर कर अनुमति लें।
संजीव मान, डीटीपीई

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सरकार ने बनाई नई पॉलिसी, डीटीपीई देंगे अनुमति