DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

लाखों श्रद्धालुओं को तोहफा, ट्रेन से सीधे पहुंचे कटरा

लाखों श्रद्धालुओं को तोहफा,  ट्रेन से सीधे पहुंचे कटरा

सेमी बुलेट ट्रेन के सफल परीक्षण के बाद आज भारतीय रेलवे ने यात्रियों को एक नया तोफा दिया। जम्मू-कश्मीर की अपनी पहली यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कटरा रेलवे स्‍टेशन का उद्घाटन किया और कटरा से उधमपुर के लिए पहली ट्रेन को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इसके साथ ही वैष्णो देवी के दर्शन के लिए जाने वाले लाखों श्रद्धालुओं के लिए सफर बेहद आसान हो गया। अब यात्री कटरा तक ट्रेन से सीधे पहुंच सकेंगे।

1947 के बाद भारत का सबसे बड़ा रेलवे प्रोजेक्‍ट
यह आजादी के बाद पहाड़ी इलाकों में भारत का सबसे बड़ा रेलवे प्रोजेक्‍ट है। उधमपुर-कटरा रूट 326 किमी लंबे जम्‍मू-उधमपुर-कटरा-बनिहाल-श्रीनगर-बारामूला लाइन का हिस्‍सा है, जो पूरे देश से कश्‍मीर को जोड़ेगी। इस रूट का एक हिस्‍सा 110 किमी लंबा कटरा-बनिहाल के 2017 तक पूरा होने की उम्‍मीद है।photo1 
 
भारत का सबसे ऊंचा पुल
वैष्‍णो देवी कटरा रेलवे स्टेशन और उधमपुर के बीच लाइन 25 किलोमीटर लंबी है। इसे तैयार करने में 1,132.75 करोड़ रुपये की लागत आई है। इस रूट पर 10 टनल और 53 ब्रिज हैं। इस पुल की ऊंचाई 85 मीटर है। इसकी ऊंचाई कुतुब मीनार (73 मीटर) से भी ज्‍यादा है। झज्‍झर नदी पर बना यह पुल भारत का सबसे ऊंचा पुल है। इस पुल पर 22 घुमाव हैं और सबसे तीखा घुमाव पांच डिग्री का है।
 
पहले लोकल, बाद में एक्‍सप्रेस ट्रेन भी
जम्मू-उधमपुर के बीच पहले से ही 53 किलोमीटर लंबी लाइन तैयार है। रेलवे के अधिकारियों के अनुसार, जम्मू से उधमपुर के बीच चलने वाली 3 लोकल ट्रेनों को अब कटरा तक चलाया जाएगा। इसके अलावा, रेलवे जम्‍मू मेल और संपर्क क्रांति एक्‍सप्रेस को कटरा तक चलाने पर विचार कर रहा है। नई ट्रेनें भी चलाए जाने की योजना है। इनमें से एक ट्रेन मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से कटरा तक चलाए जाने की उम्‍मीद है। जल्द ही अहमदाबाद-कटरा, दिल्‍ली-कटरा के बीच ट्रेन चलनी शुरू हो जाएंगी।
 
एक करोड़ लोगों के लिए सुविधा
हर साल करीब 1 करोड़ श्रद्धालु वैष्णो देवी की यात्रा करते हैं। उन्‍हें उधमपुर या जम्‍मू से सड़क के जरिए कटरा जाना होता था। इस सफर में दो-ढाई घंटे लगते थे और पैसे भी ज्‍यादा खर्च होते थे। लेकिन, अब ट्रेन उन्‍हें सिर्फ 25 मिनट में और काफी कम पैसे में कटरा तक ले जाएगी।
 
कटरा से अधिकतर श्रद्धालु ट्रैकिंग करके दर्शन के लिए पहुंचते हैं। जो पैदल या खच्‍चरों पर सवार होकर नहीं जा सकते, वे हेलिकॉप्‍टर से जाते हैं। हेलिकॉप्‍टर कटरा से, वैष्‍णो देवी से 2 किमी दूर सांझी छत पहुंचाती है। वहां से पैदल या घोड़े की सवारी कर माता के दरबार तक जाया जाता है।

एक ही टिकट से रेल-बस, दोनों की यात्रा
उधमपुर-कटरा रेल मार्ग के उद्घाटन करने के बाद प्रधानमंत्र नरेंद्र मोदी ने अपनी एक अनोखी योजना का खुलासा भी किया। उन्होंने कहा, आने वाले समय में श्रीनगर तक जाने के लिए लोग एक ही टिकट पर रेल और बस, दोनों में सफर कर सकेंगे।

इस नई रेल सेवा की शुरुआत होने के बाद अब लोग कटरा तक पहुंच सकते हैं। यहां से श्रीनगर जाने के लिए बनिहाल तक बस का सफर तय करना पड़ता है। वहां से फिर ट्रेन पकड़ना पड़ती है तो श्रीनगर छोड़ देती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:लाखों श्रद्धालुओं को तोहफा, ट्रेन से सीधे पहुंचे कटरा