DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इको फ्रेंडली यातायात के लिए दे रहे साइकिलिंग को बढ़ावा

इको फ्रेंडली यातायात के लिए दे रहे साइकिलिंग को बढ़ावा

बढ़ते प्रदूषण व सड़कों पर ट्रैफिक के दबाव को कम करने के लिए ट्रेल ब्लेजर्स ग्रुप साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए आगे आया है। दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद में साइकिल ट्रैक नहीं होने के बावजूद ग्रुप के 20 प्रतिशत लोग साइकिल से दफ्तर पहुंचते हैं। ग्रुप में शामिल कंपनी संचालक, इंजीनियर, मैनेजर वीकेंड पर साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए सड़कों पर निकलते हैं। ग्रुप का कहना है कि साइकिलिंग से इको फ्रेंडली यातायात के साथ ही फिटनेस भी दुरुस्त रहती है।

महानगर में ट्रैफिक का दबाव लगातार बढ़ रहा है। बढ़ते वाहनों के चलते प्रदूषण भी बढ़ रहा है। पीक ऑवर में आफिस जाने वालों को जाम का सामना करना पड़ता है। इन समस्याओं से बचने के लिए दिल्ली, गाजियाबाद व नोएडा के लोगों ने ट्रेल ब्लैजर्स ग्रुप बनाया है। ग्रुप का उद्देश्य प्रदूषण कम करने के साथ अपनी फिटनेस दुरुस्त रखना है। इसके लिए साइकिलिंग को बढ़ावा देने की योजना बनाई। जनवरी 2014 में शुरू हुए ग्रुप में अब क 1050 लोग शामिल हो चुके हैं। सोशल साइट्स और अपने संपर्कों के जरिये ग्रुप में लोगों को शामिल करते हैं।

ग्रुप में शामिल होने के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी
ग्रुप में शामिल होने के लिए रजिस्ट्रेशन जरूरी है। ऑनलाइन फार्म भरकर भेजना पड़ता है। इसके लिए कोई शुल्क नहीं लिया जाता है। वीकेंड पर ग्रुप के सदस्य दो जगह मिलते हैं। इंदिरापुरम से सदस्य चलते हैं और फिर दिल्ली में अक्षरधाम मंदिर के पास दिल्ली के सदस्यों को शामिल करते हैं। इन्हीं जगहों पर नए सदस्यों का परिचय होता है। साथ ही उन्हें कार्यक्रमों से साझा किया जाता है।

आफिस भी जाते हैं साइकिल से: ग्रुप का उद्देश्य इको फ्रेंडली यातायात को बढ़ावा देना है। इसी का नतीजा है कि ग्रुप के 20 प्रतिशत लोग साइकिल से दफ्तर जाते हैं। ग्रुप के सदस्य राहुल सिंह का कहना है कि साइकिल से दफ्तर जाने में जाम से बचत हो जाती है। ईंधन बचाने के साथ प्रदूषण नहीं फैलाते हैं। सदस्यों को साइकिल से दफ्तर जाने के लिए प्रेरित किया जाता है।

हर वर्ग ग्रुप व पेशे के हैं लोग: टेल ब्लैजर्स ग्रुप में हर वर्ग के लोग शामिल हैं। 22 से 45 आयुवर्ग के शामिल लोगों में आईटी प्रोफेशनल्स हैं। कंपनी मैनेजर और कंपनी संचालक भी ग्रुप के सदस्य बन चुके हैं।

विकास प्राधिकरणों से साइकिल ट्रैक बनाने की मांग: ग्रुप के सदस्यों ने मांग की है कि विकास प्राधिकरणों को साइकिल ट्रैक बनाना चाहिए ताकि भीड़भाड़ वाले इलाकों में साइकिल चलाने में दिक्कत न हो। शीघ्र ही ग्रुप इसके लिए एनसीआर के विकास प्राधिकरणों में पत्र लिखेगा।

साइकिलिंग को बढ़ावा देने के लिए ग्रुप बनाया गया है। प्रदूषण और यातायात के दबाव को कम करने के लिए यह कारगर हो सकता है। ग्रुप का उद्देश्य अधिक से अधिक सदस्यों को शामिल करना है।
नितिन तोमर, ट्रेल ब्लैजर्स ग्रुप हेड

एनसीआर में सड़कों पर वाहनों का दबाव लगातार बढ़ रहा है। पीक ऑवर में अधिक दिक्कत होती है। आफिस जाने में दिक्कत होती है। इसके लिए ग्रुप बनाया गया है।
राहुल सिंह, ट्रेल ब्लैजर्स, ग्रुप सदस्य

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:इको फ्रेंडली यातायात के लिए दे रहे साइकिलिंग को बढ़ावा