DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सिटी गेस्टः झारखंड की लोकगायकी खींच लायी हैं

हैदराबाद से आए अनिल कुमार झारखंड की लोकगायकी के कायल हैं। वह यहां के लोक, कला, संस्कृति से जुड़े लोगों से मिलने के लिए आए है। उन्होंने कहा कि देश में शास्त्रीय संगीत के साथ-साथ परंपरागत संगीत भी काफी महत्वपूर्ण हैं। इसे बढ़ाने के लिए सरकार को और प्रयास करना चाहिए।

झारखंड की उन्नत और समृद्ध लोक संगीत से यहां के युवाओं को जोड़ने जरूरत हैं। जंगलों और परंपराओं में रहकर आदिवासी समाज के गीत-नृत्य प्रकृति से जुड़े हैं। यहां के संगीत में प्रेम, शौर्य, सौंदर्य समेत कई रस हैं। इसे सुनकर मन और आत्मा दोनों ही तृप्त हो जाती है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सिटी गेस्टः झारखंड की लोकगायकी खींच लायी हैं