DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नई सरकार के आनेवाले रेल बजट से उम्मीदें बढ़ी

रांची। रघुनाथ झा। नई सरकार का आनेवाला रेल बजट यात्रियों की उम्मीदें बढ़ा रहा है। इसमें नई रेल परियोजनाओं के साथ-साथ रांची से नई ट्रेनों की पुरानी मांग पूरी होने की आशा बढ़ी है। बजट में पुरानी मांग नामकुम-कांड्रा रेल लाइन के शामिल होने की उम्मीद है। मंडल की ओर से रांची-मुंबई के लिए दुरंतो एक्सप्रेस, राजधानी और यशवंतपुर एक्सप्रेस को प्रतिदिन करने तथा हटिया से राऊरकेला के बीच पैसेंजर ट्रेन जैसी अन्य मांगों को भेजा गया है।

इसके अलावा रांची से लखनऊ, इंदौर वाया ग्वालियर ट्रेनों की मांग से भी बोर्ड को अवगत कराया गया है। जलपाइगुड़ी के लिए मिली साप्ताहिक ट्रेनगत 12 फरवरी को रेल अंतरिम बजट में रांची से जलपाइगुड़ी के लिए एक साप्ताहिक ट्रेन तथा चाकुलिया पैसेंजर ट्रेन झारखंड को दिया गया। महत्वपूर्ण रूटों पर नई ट्रेन की मांग अनसुनी कर दी गई और ट्रेनों का फेरा भी नहीं बढ़ाया गया। इन संगठनों ने भेजा मांगपत्ररेलवे बोर्ड को कई संगठनों ने मांग पत्र पहले ही भेज चुके हैं।

इसमें छोटानागपुर पैसेंजर एसोसिएशन, झारखंड पैसेंजर एसोसिएशन, झारखंड चेंबर ऑफ कॉमर्स, डीआरयूसीसी, रांची नागरिक संघ, झारखंड-बिहार रेल यात्री संघ, झारखंड मैथिली मंच, विद्यापति स्मारक समिति ने भी अपनी अपनी मांगों से रेल मंत्री को अवगत करा दिया है। यात्री संगठन के प्रेम कटारुका ने रांची से चेन्नई और हरिद्वार, देहरादून के लिए नई ट्रेन की मांग की है। एसोसिएशन के राजेन्द्र सरावगी के अनुसार धार्मिक रूट पर कई सालों से ट्रेन की मांग की जा रही है। लेकिन यह मांग अधूरी है।

रांची की प्रमुख मांगें- नामकुम-कांड्रा नई रेललाइन, लोहरदगा, सिमडेगा वाया अंबिकापुर रेललाइन, रांची स्टेशन का विस्तारीकरण, हटिया स्टेशन का सुंदरीकरण, हटिया-राऊरकेला मार्ग का दोहरीकरण, चांडिल-मुरी मार्ग का दोहरीकरण, रांची-मुंबई दुरंतो एक्सप्रेस, जम्मूतवी और एल्लेपी की सीधी रेल सेवा, हटिया से लखनऊ प्रतिदिन, रांची से अहमदाबाद वाया इंदौर नियमित चले राजधानी, राजधानी एक्सप्रेस प्रतिदिन, गरीब रथ प्रतिदिन, दरभंगा-हैदराबाद प्रतिदिन, दरभंगा-जयनगर प्रतिदिन, हटिया-यशवंतपुर प्रतिदिन, लोकमान्य तिलक प्रतिदिन, रांची अलीपुरद्वार पांच दिन, अजमेरशरीफ तीन दिन, रेलवे बोर्ड के पास हमने सारी मांगों को भेज दिया है।

भीड़ वाली राजधानी एक्सप्रेस, यशवंतपुर, एलटीटी एक्सप्रेस को नियमित चलाने की बड़ी मांग है। राऊरकेला से हटिया और रांची से मुंबई की दुरंतो सेवा की भी बड़ी मांग है।

हर मांग पूरी हो, ऐसा संभव नहीं। जरूरी मांग पूरी हो सकती है। दीपक कश्यप, रेल प्रबंधक, रांची मंडल।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नई सरकार के आनेवाले रेल बजट से उम्मीदें बढ़ी