DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

खाद्य सुरक्षा पर पक्ष-विपक्ष ने सरकार को घेरा

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। खाद्य सुरक्षा योजना पर विधानसभा में सरकार को पक्ष और विपक्ष दोनों ने घेरा और सर्वानुमित से इस मसले पर आधे घंटे की विशेष चर्चा करनी पड़ी। विपक्ष का आरोप था कि राशन कार्ड न होने से पिछले छह माह से गरीबों को अनाज नहीं मिल रहा है।

खाद्य सुरक्षा योजना लागू होने से बीपीएल कार्ड स्वत: समाप्त हो गए हैं। जवाब में मंत्री ने श्याम रजक ने कहा कि 87 फीसदी राशन कार्ड का वितरण हो चुका है। विपक्ष की टोकाटोकी के बीच मंत्री ने पलटवार किया कि भाजपा राशन कार्ड वितरण में बाधा डाल रही है। इस पर भाजपा के सदस्यों ने जमकर हंगामा किया।

प्रश्नकाल में जदयू के मंजीत कुमार सिंह ने उठाया था पर भाजपा, राजद और कांग्रेस सभी ने इस प्रश्न पर सरकार की सक्रियता पर सवाल उठाते हुए इस पर विशेष चर्चा की मांग की।

वहीं खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्याम रजक ने कहा कि सरकार का लक्ष्य है कि 31 जुलाई तक हर हाल में सभी राशन कार्ड वितिरत कर दिए जाएंगे। शिविर लगाकर राशन कार्ड का वितरण किया जा रहा है। आंकड़े पर गौर करें तो अभी 19 लाख लोगों के बीच राशन कार्ड का वितरण किया जाना शेष है। उन्होंने कहा कि 49 लाख शिकायतें आई थीं। सुनवाई के बाद 27 लाख लोगों के बीच राशन कार्ड का वितरण हो गया है।

खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री ने कहा कि 1.16 करोड़, 82 हजार राशन कार्ड का वितरण हो गया है। यह तय संख्या का 87 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि जो लोग छूट गए हैं, उनसे भी आवेदन लिया जा रहा है। माइक से प्रचार कर आवेदन मांगे जाएंगे। उन्होंने कहा कि अनाज का रैक नहीं मिलने से भी अनाज वितरण में परेशानी है। स्थिति यह है कि जून में जो अनाज वितिरत होना है उसका 164 रैक अभी लोड ही नहीं हो पाया है।

जुलाई का भी 164 रैक नहीं पहुंचा है। बारहजिंलों का हाल यह है कि वहां एफसीआई का गोदाम नहीं है। इस कारण अनाज को एकजिंले से दूसरेजिंले में लाने की समस्या है। पटना का अनाज बक्सर से लाना पड़ रहा है और जमुई का अनाज लखीसराय से।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:खाद्य सुरक्षा पर पक्ष-विपक्ष ने सरकार को घेरा