DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

नवीनीकरण के नाम पर वसूली से खफा अनुदेशक

हाथरस। परिषदीय उच्च प्राथमिक विद्यालयों में तैनात अनुदेशकों का अभी तक नवीनीकरण नहीं हो सका है, जबकि शासनादेश के अनुसार उक्त कानवीनीकरण एक जुलाई तक हो जाना चाहिए था, लेकिन विभागीय कर्मचारियों की मनमानी के कारण अभी तक अनुदेशक विभाग के चक्कर काट रहे हैं। नवीनीकरण के नाम पर उनसे वसूली का खेल भी चल रहा है, तभी तो खफा अनुदेशकों ने बीएसए दफ्तर पर प्रदर्शन किया और नवीनीकरण के नाम पर वसूली किए जाने की बात को लेकर विरोध जताया।

पिछले वर्ष परिषदीय शिक्षाविभाग के उच्च प्राथमिक विद्यालयों में अनुदेशकों की तैनाती संविदा पर की गई थी। छात्र संख्या 100 से अधिक वाले विद्यालयों में इनकी तैनाती की गई थी। हर साल इनका नवीनीकरण जुलाई में ही किया जाना है, लेकिन अभी तक नवीनीकरण की प्रक्रिया पूरी नहीं हो सकी है। जबकि छुट्टियों में ही विभाग को शासन का आदेश प्राप्त हो चुका है। आरोप है कि विभागीय कर्मचारी अपने अधिकारी के इशारे पर प्रत्येक अनुदेशक से दो दो हजार रुपए नवीनीकरण के नाम पर मांग रहे हैं, कुछ अनुदेशकों से पैसे की वसूली भी हो चुकी है।

इस बात से गुस्साए अनुदेशक गुरुवार को बीएसए दफ्तर पहुंच गए, जहां पर उन्होंने वसूली के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मामले की जांच कराकर दोषी के खिलाफ कार्यवाही की मांग उठाई। आरोप है कि नवीनीकरण को लेकर भ्रमित किया जा रहा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:नवीनीकरण के नाम पर वसूली से खफा अनुदेशक