अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

चीन में फंसे भारतीय छात्र

चीन में आए भूकंप के बाद चेंगदू के एक विश्वविद्यालय में उन दर्जनों भारतीय छात्रों की नींद हराम है जो वहां मेडिकल की पढ़ाई करने गए हुए हैं। भूकंप आने के बाद हास्टल खाली होने के कारण वे खेल के मैदान में अपनी रातें गुजारने को विवश हैं। अब वे बेसब्री से भारत वापसी की बाट जोह रहे हैं। बिहार से चिकित्सा की पढ़ाई करने गए थर्ड ईयर के एक छात्र ने फोन से हिन्दुस्तान टाइम्स को बताया कि हम बहुत डर हुए हैं। हम यहां सुरक्षित भी नहीं हैं। उसने बताया कि मेर बैच में 38 भारतीय छात्र हैं और उससे ज्यादा यहां विश्वविद्यालय में हैं। हम घर वापस आना चाहते हैं। कार्रवाई के डर से उसने अपना नाम न छापने का भी अनुरोध किया। चीन में 12 मई को आए जबरदस्त भूकंप में पचास हाार से ज्यादा लोगों की जान गई है। बंगाल के एक छात्र ने कहा कि वे खुले मैदान में ओडोमास लगाकर रात काटने को मजबूर हो रहे हैं। छात्रों ने कहा कि भारतीय दूतावास को विश्वविद्यालय अधिकारियों से बात करनी चाहिए कि वे हमें घर जाने की अनुमति दें। भारतीय छात्र परीक्षा की तारीख भी जून से अगस्त तक बढ़ाए जाने के पक्ष में हैं। उधर बीजिंग में भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने बताया कि अधिकारियों के दौरों के दौरान छात्रों ने कहा था कि वे सुरक्षित हैं। अधिकारी फिर से वहां का दौरा कर उनसे बात करंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: चीन में फंसे भारतीय छात्र