DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अब मदरसे के बच्चों खलेंगे क्रिकेट, करेंगे ड्रामा

आगरा। मदरसे में दीन की तालीम ले रहे बच्चों अब खेलकूद और संस्कृतिक कार्यक्रम में भी अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे। मदसरे में पढ़ रहे बच्चों को अब जनपद स्तर पर होने वाली खेलकूद प्रतियोगतिाओं में हिस्सा लेने का मौका मिलेगा। वहीं वह बेसिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से होने वाली सांस्कृतिक और खेल प्रतियोगतिाओं में शिरकत करेंगे। शासन ने मदरसों में पढ़ाई कर रहे बच्चों को इस तरह की गतविधिि में प्रतिभाग कराने के लिए निर्देश जारी कर दिए हैं।

प्रमुख सचवि अल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ विभाग डॉ. देवेश चतुर्वेदी की ओर जारी आदेश में प्रदेशभर के मदरसों के बच्चों को बेसिक और माध्यमिक स्कूलों के बच्चों की तरह समान अवसर देने की बात कही गई है। खासकर शैक्षिक, खेल और सांस्कृतिक आयोजनों में। शासनादेश में कहा गया है कि हर जनपद में बेसिक शिक्षा विभाग, माध्यमिक शिक्षा विभाग या फिर जिला क्रीड़ा अधिकारी की ओर से होने वाली खेल प्रतियोगतिाओं में मदरसे में पढ़ रहे बच्चों के हिस्सा लेने पर काम किया जाए।

साथ ही बेसिक और माध्यमिक शिक्षा विभाग की ओर से होने वाली शैक्षिक और सांस्कृतिक प्रतियोगतिाओं में उन बच्चों को आगे लाने को कहा गया है। शासनादेश में निर्देश हैं कि विभागों द्वारा होने वाली इस प्रकार की किसी भी गतविधिि में मदसरे के बच्चों प्रतिभाग करें यह सुनशि्चित करना भी विभाग की जिम्मेदारी होगी। यह है शासनादेशअल्पसंख्यक कल्याण एवं वक्फ विभाग के सचवि डॉ. देवेश चतुर्वेदी की ओर से भेजे एक पत्र में मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों के एकीकरण पर जोर देने को कहा गया है।

इसे साथ ही जनपद स्तर पर होने वाली माध्यमिक, बेसिक शिक्षा विभाग के सांस्कृतिक और खेल आयोजनों में मदरसे में पढ़ रहे बच्चों को मौका देने की बात कही गई है। आयोजन से पहले होगा व्यक्तिगत संपर्कशासनादेश में जिला क्रीड़ा अधिकारी को निर्देशित किया गया है कि विभाग द्वारा होने वाली किसी भी खेलकूद प्रतियोगतिा से पूर्व मदरसों से संपर्क किया गया। क्रीड़ा अधिकारी को आयोजन से पहले मदरसों से व्यक्तिगत संपर्क करने की बात भी कही गई है ताकि वहां के बच्चों के प्रतियोगतिा में प्रतिभाग करने की संभावना बढ़ सकें।

शासनादेश पर आज होगी बैठकमदरसों के बच्चों के लिए जारी किए गए शासनादेश के आधार पर जनपद में कार्य योजना बनाने के लिए शुक्रवार को मुख्य विकास अधिकाी की अध्यक्षता में बैठक होगी। इसमें जिला बेसिक शिक्षा विभाग, जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय और जिला क्रीड़ा विभाग से अधिकारियों हिस्सा लेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अब मदरसे के बच्चों खलेंगे क्रिकेट, करेंगे ड्रामा