DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

बीएसएफ जवान ने पत्नी की हत्याकर शव जलाने की कोशिश की

जुड़वा बेटों के जन्मदिन पर नाचने से नाराज बीएसएफ जवान ने पत्नी को पीट-पीटकर मार डाला। सूचना पर रात में ही पहुंची पुलिस ने घर को सील करते हुए जवान को रात में ही गिरफ्तार कर लिया। विवाहिता के पिता की तहरीर पर पति समेत पांच के खिलाफ मुकदमा दर्ज हो गया। घटना देहात कोतवाली के खरहरा गांव के दलित बस्ती की है। 

चील्ह थाना क्षेत्र के जगदीशपुर मवैयां गांव निवासी लालचंद की बेटी सुनीता (22) की शादी खरहरा गांव निवासी विजयकुमार के साथ 24 अप्रैल 2012 को हुई थी। एक जुलाई 2013 को जुड़वा बेटों का जन्म दिया। बेटों का पहला जन्मदिन मनाने के लिए आसाम में तैनात बीएसएफ का जवान विजय छुट्टी लेकर घर आया था। विवाहिता के पिता लालचंद के अनुसार जन्मदिन समारोह में जुटे परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों के साथ सुनीता भी नाच रही थी। यह बात विजय को नागवार गुजरी। इसी को लेकर दोनों में देर रात विवाद हुआ।

बुधवार की रात करीब नौ बजे विवाद इतना बढ़ गया कि उसने सुनीता की बुरी तरह से पिटाई कर दी। इसे हादसे का रूप देने के लिए परिजनों के साथ मिलकर सुनीता के शरीर पर पेट्रोल और केरोसिन डालकर आग लगा दी। पड़ोसियों की सूचना पर पहुंची देहात कोतवाली पुलिस ने विजय को हिरासत में ले लिया। एसपी आरएसपी यादव और अन्य अधिकारियों ने भी घटनास्थल का निरीक्षण किया। विवाहिता के पिता की तहरीर पर पति, सास, ससुर, जेठ और जेठानी के खिलाफ भी दहेज हत्या का मुकदमा दर्ज कर सभी को गिरफ्तार कर लिया गया। 

मायके वालों का आरोप है कि शादी के बाद से ही विवाहिता पर अपने पिता और चाचा से पैसे की मांग करने के लिए दबाव बनाता जाता था। विवाहिता के पिता अग्निशमन विभाग सोनभद्र के राबर्ट्सगंज इकाई में हेड कांस्टेबिल हैं। दो बड़े चाचा पीएसी और पुलिस में हैं। तीसरा चाचा बीटेक करके निजी कंपनी में इंजीनियर है। परिवार के आर्थिक रूप से मजबूत होने का फायदा उठाकर विजय हमेशा पैसा ऐंठने की फिराक में रहता था। पहले भी कई बार सुनीता की पिटाई की गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:बीएसएफ जवान ने पत्नी की हत्याकर शव जलाने की कोशिश की