DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

'15 जुलाई तक बिजली की बकाया राशि का भुगतान करे बीएसईएस'

'15 जुलाई तक बिजली की बकाया राशि का भुगतान करे बीएसईएस'

उच्चतम न्यायालय ने आज बीएसईएस यमुना प्राइवेट लिमिटेड को निर्देश दिया कि बिजली उत्पादन और संप्रेषण करने वाली कंपनियों की जनवरी से जून की अवधि की बकाया राशि का भुगतान 15 जुलाई तक किया जाये।
      
शीर्ष अदालत ने कहा कि बीएसईएस यमुना प्राइवेट लिमिटेड बिजली उत्पादन और संप्रेषण करने वाली कंपनी को 6 मई, 2014 के आदेश में दर्ज आंकड़ों के आधार पर हर महीने भुगतान करती रहेगी।
      
प्रधान न्यायाधीश आर एम लोढा की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने अपने आदेश में कहा, हम संतुष्ट हैं कि बीएसईएस यमुना प्रा़ लि को 30 जून की स्थिति के अनुसार बकाया राशि का भुगतान करना होगा।
      
न्यायालय ने उसके समक्ष पेश खाते के विवरण को रिकार्ड में लेते हुये कहा, कंपनी बिजली उत्पादन और संप्रेषण करने वाली कंपनियों द्वारा बतायी गयी राशि का तत्काल भुगतान करेगी और यह किसी भी स्थिति में 15 जुलाई के बाद नहीं होगा। हालांकि न्यायालय को सूचित किया गया कि बीएसईएस राजधानी पहले ही बकाया राशि का 94 फीसदी भुगतान कर चुकी है।
       
न्यायालय ने इस मामले को दो महीने बाद सूचीबद्ध करने का निर्देश देते हुये कहा कि इस प्रकरण के विभिन्न मुद्दों पर बाद में विचार किया जायेगा। बीएसईएस यमुना के चांदनी चौक, दरियागंज, पहाड़गंज, शंकर रोड, पटेल नगर, कष्णा नगर, लक्ष्मी नगर, मयूर विहार और यमुना विहार सहित केन्द्रीय और पूर्वी दिल्ली में 13.5 लाख उपभोक्ता हैं।
       
बीएसईएस राजधानी दक्षिण और पश्चिमी दिल्ली के अलकनंदा, वसंत कुंज, साकेत, नेहरू प्लेस, निजामुद्दीन, सरिता विहार, हौज खास, आरके पुरम, जनकपुरी, पंजाब बाग, टैगोर गार्डन, विकास पुरी, पालम और द्वारका इलाकों में 18.5 लाख उपभोक्ता हैं।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:'15 जुलाई तक सभी बकाया राशि का भुगतान करे बीएसईएस'