DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

व्यापारी छह दिन बाद भी अपनी मांग पर अडिग

कांठ। कांठ की बाजारबंदी को बुधवार को छह दिन पूरे हो गए। व्यापारियों की एकजुटता ने बाजार न खोलकर इस नजीर को और आगे बढ़ा दिया है। बाजारबंदी के लंबा चलने से व्यापारियों का नुकसान करोड़ो से ऊपर हो गया है। नया गांव चेदरी अकबरपुर के दलित मंदिर से लाउडस्पीकर उतारे जाने की घटना ने क्षेत्र के हालातों को इतना बेकाबू कर दिया कि यहां लोग सड़कों पर उतर आए।

पुलिस और पब्लिक के बीच संघर्ष हुआ। लाउडस्पीकर उतारे जाने से इतना रोष फैल गया कि व्यापारियों ने बाजारबंदी का शुक्रवार को एलान कर दिया। शुक्रवार को बंद हुए बाजार को बुधवार को छह दिन हो गए। व्यापारियों की एकजुटता ने बाजार न खोलकर इस नजीर को और आगे बढ़ा दिया है। अभी ये बाजारबंदी कब तक चलेगी, सवाल बना हुआ है। लेकिन इतना जरूर है कि जहां एक दिन की ही बाजार बंदी से लाखों रुपए का व्यापारियों को नुकसान उठाना पड़ रहा है।

वहीं, छह दिन की बाजार बंदी के बाद ये आंकड़ा करोड़ो को पार कर चुका है। फिर भी व्यापारी वर्ग नया गांव चेदरी अकबरपुर के धार्मिक स्थल से जबरन उतारे गए लाउडस्पीकर को वापस लगवाए जाने की मांग पर अडिग है और अभी भी ये ही एलान है कि मांग पूरी होने तक बाजार पूरी तरह बंद रखा जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:व्यापारी छह दिन बाद भी अपनी मांग पर अडिग