DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

एक करोड़ के काम पर अब होगा ऑनलाइन टेंडर

संतकबीरनगर। तेजप्रकाश तिवारी। पीडब्लूडी में अब एक करोड़ या उससे ऊपर के निर्माण कार्या में ऑनलाइन टेंडर अनिवार्य होगा। अभी तक इस व्यवस्था के न लागू होने के कारण ठेकदार निविदा फार्म के जरिए ही काम कराते थे। नई व्यवस्था लागू हो जाने से विभाग के ठेके-पट्टे में पारदर्शिता आ जाएगी। अब तक कई बार अधिकारियों पर दबाव डालकर काम हथिया लिया जाता था। इसे एक अगस्त से लागू किया जाएगा।

लोकनिर्माण विभाग में अब तक सड़कों के निर्माण एवं मरम्मत के लिए टेंडर डालने के लिए विभाग से उपलब्ध कराए गए फार्म को भरकर जमा करना होता था। इन फार्मो के बाक्स में डालने के बाद इसे डीएम द्वारा नामित अधिकारियों की मौजूदगी में खोला जाता था।

कई बार आवेदन किए ठेकेदार विभाग के अधिकारियों पर प्रपत्रों के गायब कर देने का आरोप लगाते हुए काम किसी चहेते ठेकेदार को दे देने का आरोप लगाते थे। ऑनलाइन टेडर की प्रक्रि या लागू हो जाने से जहां काम बांटने में पारदर्शिता आएगी वहीं सभी कागजात ऑनलाइन होने से इसमें घालमेल होने की संभावना नहीं के बराबर रह जाएगा।

विभाग से जुड़े अधिकारियों का कहना है कि कई बार काम लेने के लिए उन पर अनावश्यक दबाव बनाया जाता था। अब नई व्यवस्था के लागू हो जाने पर दबाव की गुंजाइश खत्म हो जाएगी।

नई व्यवस्था से यह होगा लाभ नई व्यवस्था के लागू हो जाने पर विलो काम के लिए टेंडर डालने वाले ठेकेदार को काम मिलेगा। वहीं बड़े ठेकेदार ही काम पा सकेंगे। कई बार अनुचित दबाव में काम लेकर समय से काम न पूरा करने वाले ठेकेदारों से विभाग को मुक्ति मिल सकेगी, जिससे निर्माण कार्य समय से पूरा होगा।

अधिकारी भी समय से काम पूरा करने का दबाव बना सकेंगे। दो जोन में पहले से लागू है व्यवस्था विभाग के जानकार अधिकारियों का कहना है कि पूरे प्रदेश के दो जोन में ईं-टेंडर की प्रक्रिया कुछ सालों से चल रही है। वहां की सफलता देखकर इसे बाकी बचे जोन में लागू करने का आदेश आ चुका है। यह व्यवस्था अभी तक कानपुर और लखनऊ जोन में ही लागू है। जबकि शेष अन्य जोनों में इसे जल्द ही लागू किया जाएगा।

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:एक करोड़ के काम पर अब होगा ऑनलाइन टेंडर