DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रोजगार सेवक ने किया फील्ड जाने से इंकार

मोहनपुर प्रतिनिधि। प्रखंड परिसर में मंगलवार को बीडीओ शैलेन्द्र कुमार रजक की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक की गयी। इस दौरान जैसे पंचायतवार योजनाओं की समीक्षा शुरू की, कि लंबित मजदूरी भुगतान को लेकर हो-हंगामा हो गया। सभी रोजगार सेवकों ने एकजुट होकर कहा कि पहले लंबित पड़े मजदूरों को मजदूरी भुगतान हो, तब कोई दूसरा कार्य होगा। रोजगार सेवकों ने काम बंद करने की बात कही।

कहा कि कार्य स्थल पर जाना मुश्किल हो गया है। मजदूर, मजदूरी के लिए रोजगार सेवकों पर गुस्सा उतारते हैं। इस दौरान बीडीओ ने कहा कि जबतक मनरेगा में राशि प्राप्त नहीं हो जाती है, तब तक भुगतान होना संभव नहीं है।

उन्होंने कार्य बंद करने की सलाह दी। उधर बैठक के दौरान मुखिया बिंदू मंडल ने एफडीओ के माध्यम से भुगतान करने बंद करने का आग्रह किया। कहा कि मजदूरों को पंचायत के माध्यम से भुगतान हो, जबतक पंचायत के माध्यम से कार्य हुआ समस्या नहीं आई।

इसको लेकर उन्होंने धरना-प्रदर्शन करने की बात कही। बता दें कि प्रखंड क्षेत्र में 73 लाख रुपए मजदूरी भुगतान लंबित है। वहीं जिले भर में 3करोड़ से अधिक मजदूरी भुगतान लंबित है। बता दें कि मनरेगा में राशि नहीं रहने के कारण 7 सौ से अधिक योजना लंबित है।

इस वित्तीय वर्ष एक भी योजना नहीं हो पाई है। इस दौरान बीडीओ ने बरसाती योजनाओं का चयन करने का निर्देश दिया। बैठक में बीपीओ वंदना मिश्रा, जीपीएस सुनंद कुमार, जेएसएस अरविंद कुमार, कनीय अभियंता दीपेन्द्र साह, निलेश कुमार, मुखिया रानी मरांडी सहित दर्जनों पंचायत व रोजगार सेवक उपस्थित थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रोजगार सेवक ने किया फील्ड जाने से इंकार