DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

अमेठी के निवासी का बना दिया बीपीएल राशन कार्ड

 प्रतापगढ़। निज संवाददाता। सांगीपुर ब्लॉक के कटेहटी गांव का कोटेदार मनमानी कर रहा है। उसने खुद के साथ ही भाइयों व मां के नाम पर भी बीपीएल राशन कार्ड बनवा रखा है। अमेठी जिले में रह रहे अपने भाई के नाम हर माह राशन, चीनी और केरोसीन हड़प रहा है। कार्डधारकों को निर्धारित रेट से अधिक वसूली कर खाद्यान्न दे रहा है। एपीएल कार्ड धारकों के लिए आए गेहूं का वितरण भी नहीं किया।

यह आरोप है कि कटेहटी के ग्रामीणों का। ग्रामीणों ने डीएम से मिलकर कोटेदार की शिकायत की। ग्रामीणों का आरोप है कि कोटेदार 35 किलोग्राम राशन की जगह 30 किलोग्राम ही देता है। इसके लिए निर्धारित 95 रुपए की जगह 105 रुपए की वसूली कर रहा है। इसके अलावा एपीएल कार्ड धारकों के लिए आए खाद्यान्न का वितरण भी नहीं करता है। केरोसीन का वितरण एक माह के अंतराल पर करता है और सरकारी दर से अधिक की वसूली करता है।

विरोध करने वाले कार्डधारकों के साथ कोटेदार और उसके सहयोगी बदसलूकी भी करते हैं। इतना ही नहीं कोटेदार ने सरकारी खाद्यान्न को हड़पने के लिए खुद के साथ ही परिवार के चार लोगों के नाम बीपीएल राशन कार्ड बनवा रखा है। इसमें कोटेदार राकेश कुमार, उसके भाई देवलाल, दयाराम तथा माता चंद्रावती शामिल हैं। कोटेदार का बड़ा भाई देवलाल अमेठी जिले में 25 वर्षो से रह रहा है। आरोप है कि इतने के बाद भी कोटेदार अपने भाई के नाम से गरीबों के हक का राशन हड़प रहा है।

ग्रामीणों ने कोटेदार की दुकान का लाइसेंस निरस्त करने के साथ ही परिजनों के नाम पर बनाए गए राशन कार्डों को भी निरस्त करने की मांग की है। डीएम से शिकायत करने वालों में सुनील कुमार मौर्य, जोगीलाल वर्मा, शविनरायन, रामलाल, जमुना प्रसाद, छेदीलाल आदि शामिल रहे। गिरीश त्रिपाठी ।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:अमेठी के निवासी का बना दिया बीपीएल राशन कार्ड