DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शिक्षिकाओं को नहीं मिल रहा है वेतन

लखनऊ। कार्यालय संवाददाता। पुराना किला स्थित लखनऊ मांटेसरी इंटर कॉलेज की आठ शिक्षिकाएं पिछले 13 महीने से लगातार बच्चों को पढ़ा रही है, मगर इनको वेतन नहीं दिया जा रहा है। जांच के नाम पर विभाग ने सभी शिक्षिकाओं का वेतन रोक रखा है। बुधवार को इससे नाराज शिक्षिकाएं शिक्षा भवन पहुंच गई। डीआईओएस के कार्यालय में न होने पर शिक्षिकाओं ने संयुक्त शिक्षा निदेशक मुलाकात की और अपनी परेशानियों के बारे में बताया।

इस मामले में शिक्षिकाओं ने एक ज्ञापन भी संयुक्त शिक्षा निदेशक को सौंपा है। शिक्षिकाओं का कहना है कि लखनऊ मांटेसरी इंटर कॉलेज में सभी शिक्षिकाओं की नियुक्ति नियमानुसार पिछले साल हुई थी। शिक्षिकाओं ने मई 2013 में कार्यभार भी ग्रहण कर लिया। इसके बाद से वह लगातार शिक्षण कार्य करा रही है। शिक्षा विभाग ने अभी तक किसी भी शिक्षक का वेतन भुगतान नहीं किया। शिक्षिकाओं का कहना था कि उनके चयन से जुड़ी सभी पत्रावलियां मई 2013 में ही अनुमोदन के लिए डीआईओएस कार्यालय आ चुकी हैं।

माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री पंडित सिंह से भी गुहार लगाई थी। उनके हस्तक्षेप के बाद नियुक्ति पर अनुमोदन कर वेतन भुगतान के आदेश दिए गए। वेतन आज तक नहीं मिला। 13 महीने से वेतन न मिलने पर हमारी आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। शिक्षिकाओं का कहना है कि वेतन न मिलने से उनके परिवार पर इसका सीधा असर पड़ा रहा है। वहीं संयुक्त शिक्षा निदेशक सुत्ता सिंह ने बताया कि शासन से नियुक्तियों की जांच के आदेश दिए गए थे।

डीआईओएस से जांच कराई गई थी। जिसकी आख्या माध्यमिक शिक्षा निदेशालय भेज दी गई थी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शिक्षिकाओं को नहीं मिल रहा है वेतन