DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

शहर को मिलेगा 16 लेन का आउटर रिंग रोड

लखनऊ वरिष्ठ संवाददाता। केन्द्र सरकार से स्वीकृत आउटर रिंग रोड लगभग 16 लेन का होगा। यह एलडीए के प्रस्तावित रिंग रोड से अलग बनाया जाएगा। एलडीए का आउटर रिंग रोड 150 मीटर चौड़ा है जबकि केन्द्र से स्वीकृत आउटर रिंग रोड लगभग 60 मीटर चौड़ा होगा। केन्द्र की स्वीकृति के बाद नए आउटर रिंग रोड को बनाने की कवायद शुरू हो गई।

एनएचएआई के अधिकारियों ने इसके लिए एलडीए से सम्पर्क कर मास्टर प्लान व अन्य दस्तावेज हासिल कर लिए हैं। प्राधिकरण के प्रस्तावित आउटर रिंग रोड के एलाइनमेंट का भी परीक्षण कर लिया है। एनएचएआई के अधिकारियों ने एलडीए के विस्तारित क्षेत्र के नक्शे की बड़ी कापी भी ली है। उसने इसके सर्वे का काम भी शुरू कर दिया है। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह के प्रयास से बनने वाली इस आउटर रिंग रोड के लिए भूतल परवहिन एवं उच्च राष्ट्रीय पथ मंत्रालय ने मंजूरी दे दी है।

एनएचएआई के अधिकारियों की एक टीम ने एलडीए के नगर नियोजन विभाग में सम्पर्क किया था। उसकी नए आउटर रिंग रोड के सम्बंध में एलडीए के मुख्य नगर नियोजक जेएन रेड्डी से वार्ता भी हुई है। केन्द्र अपने मानक के अनुसार अधिकतम 100 मीटर चौड़ा आउटर रिंग रोड बना सकता है। लखनऊ में अगले 25 वर्षो के यातायात को देखते हुए उसने यहां करीब 60 मीटर चौड़े आउटर रिंग रोड की जरुरत बताई है। एलडीए ने अपने विस्तारित क्षेत्र के मास्टर प्लान में केवल नए आउटर रिंग रोड का चिन्हांकन किया है।

उसकी प्रस्तावित रिंग रोड कब बनेगी यह कोई नहीं बता सकता है। एलडीए के प्रस्तावित 150 मीटर चौड़े आउटर रिंग रोड को बनाने में बहुत ज्यादा खर्च आएगा। इसके लिए काफी जमीन की भी जरूरत होगी। जबकि 60 मीटर चौड़े आउटर रिंग रोड के निर्माण पर खर्च आधे से कम हो जाएगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:शहर को मिलेगा 16 लेन का आउटर रिंग रोड