DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्षिप्त खबर

प्रमोद और बाबर फरार ड्ढr जमशेदपुर। झामुमो के नेता प्रमोद लाल एवं बाबर खान फरार हैं। जिला पुलिस ने इन्हें फरार घोषित किया है। यह अलग बात है कि शहर के हर चौक - चौराहों पर दोनों कार्यक्रम करते नजर आ रहे हैं। सांसद सुनील महतो के निर्माणाधीन स्मारक स्थल पर धारा 144 का उल्लंघन करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने के आरोप में इनके विरूद्ध कदमा थाना में प्राथमिकी दर्ज की गयी थी। इसके बाद इनके खिलाफ वारंट निकला और इन्हें फरार घोषित कर दिया गया है।ड्ढr शुक्रवार से बेमियादी बंदीड्ढr धनबाद। 7-ईसी एक्ट के खिलाफ शहर के खुदरा खाद्यान्न व्यापारी शुक्रवार से अपनी दुकान बंद कर बेमियादी हड़ताल पर चले जायेंगे। नवीन मंडल की अध्यक्षता में मंगलवार को हीरापुर हटिया में हुई बैठक में यह फैसला किया गया। व्यवसायी पवन अग्रवाल ने बताया कि 15 दिनों से कृषि उत्पादन बाजार समिति की थोक खाद्यान्न मंडी में जिंसों की आवक ठप है।ड्ढr युवक की गला घोंट हत्याड्ढr धनबाद-भूली। भूली ओपी क्षेत्र के आरा मोड़ रहमतगंज निवासी सल्लाउद्दीन खान के पुत्र ग्यास खान (28) की हत्या कर दी गयी। मंगलवार की सुबह पोलिटेकनिक रोड स्थित सिंघाड़ा तालाब के किनार से ग्यास का शव बरामद हुआ। गला में गमछा बंधा व मुंह से खून निकला हुआ था। हत्या से रहमतगंज में तनाव की स्थिति है। इलाके में पुलिस गश्त बढ़ा दी गयी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या का कारण फसरी बताया गया है।ड्ढr बारूद का जखीरा बरामदड्ढr केदला। झुमरा पहाड़ की तलहटी में बसे बेड़ा, बलथरवा और सुअरकटवा के जंगलों में पुलिस ने 18 मई को गुप्त सूचना के आधार पर उग्रवादियों के खिलाफ तलाशी अभियान चलाया। अभियान के दौरान सुअरकटवा के जंगल में दो पहाड़ी के बीच स्थित नाला में प्लास्टिक से टिन का बड़ा बक्शा लावारिश हालत में मिला।ड्ढr सीसीएलकर्मी की हत्याड्ढr कुाू। कुाू ओपी क्षेत्र के कुाू-आरा मार्ग पर स्थित बिजली सबस्टेशन के पास हथियारबंद अपराधियों ने 20 मई को एक मोटरसाइकिल सवार की गोली मारकर और धारदार हथियार से हत्या कर दी। मृतक की पहचान सारूबेड़ा के सीसीएलकर्मी बुधन महतो (28) के रूप में की गयी है। व्यवसायी से 1.5 लाख की लूटड्ढr संवाददाता बोकारो अपराधियों ने चास थाना अंतर्गत चेक पोस्ट के निकट मंगलवार को बैंक में रुपये जमा करने जा रहे व्यवसायी से दिन दहाड़े 1 लाख 5 हाार रुपये लूट लिये। प्राप्त जानकारी के अनुसार अजंता प्रिंटर्स एवं सुरश ऑटोमोबाइल के संचालक सुरश कुमार अग्रवाल अपनी दुकान से महा 200 गज की दूरी पर स्थित इंडियन ओवरसीज बैंक में रुपये जमा करने पैदल जा रहे थे। 11.30 बजे नटराज गली में घुसने के साथ ही एक युवक आकर उनसे उलझ गया। रुपये से भरा बैग छीन लिया। दोनों के बीच लगभग दो मिनट तक उठा पटक भी हुई। बैग श्री अग्रवाल के हाथ में आ गया। इस बीच बाईपास की ओर से दौड़ता हुआ एक और युवक हाथ में पिस्तौल लिए वहां पहुंचा तथा बैग छीन कर बाइपास की ओर मोटरसाइकिल पर तीनों युवक बैठकर भाग निकले। आन्दोलन पर है सरकार की नजर : मंत्री संवाददाता धनबाद खाद्य आपूर्ति मंत्री कमलेश कुमार सिंह ने मंगलवार को कहा कि 7-ईसी एक्ट के खिलाफ व्यवसायियों के आन्दोलन पर सरकार की नजर है। जल्द ही कुछ न कुछ रास्ता निकलेगा।ड्ढr उन्होंने बताया कि अन्य राज्यों से भंडारण सीमा को लेकर की गयी कार्रवाइयों का ब्यौरा मंगाया जा रहा है। तुलनात्मक अध्ययन के बाद ही सरकार कुछ निर्णय लेगी। उन्होंने कहा कि जन वितरण प्रणाली की दुकानों के लिए केंद्र जो आवंटन देता है, वह कम है। इसके लिए बातचीत हुई है। रलवे की ओर से भी समस्या है। समय पर आवश्यकता के अनुरूप रैक नहीं मिल रहा है। रल मंत्री से इस मुद्दे पर कई दफा बातचीत हो चुकी है। बावजूद समस्या जस की तस बनी हुई है। उन्होंने बताया कि एक बड़ी समस्या भंडारण को लेकर है। एफसीआइ के पास गोदाम नहीं है। गोदाम निर्माण करने के लिए उसे कहा गया है। श्री सिंह ने बताया कि राज्य खाद्य निगम के गठन का प्रस्ताव मंत्रिपरिषद से पारित है। इस माह के अंत तक अधिसूचना जारी हो जाएगी। इसके बाद समस्या का समाधान हो जाएगा।ड्ढr झरिया को फिर झटका संवाददाता अलकडीहा झरिया बचाओ आन्दोलन को मंगलवार को तब एक और झटका लगा जब बीसीसीएल के लोदना कोक प्लांट को बंद करा दिया गया। सूबे के श्रम मंत्री भानू प्रताप शाही ने रांची में 16 मईको बैठक कर फायर एरिया में जान-माल की सुरक्षा के नाम पर इस मुतल्लिक निर्देश जारी किये थे। कारखाना निरीक्षक ने आनन-फानन में उस पर अमल कराया। प्लांट बंद होते ही मजदूर भड़क गये और उन्होंने मंत्री-अधिकारियों के खिलाफ जमकर नारबाजी की। कांग्रेस के सांसद ददई दुबे मौके पर पहुंचे और सरकार के इस फैसले के खिलाफ अंतिम दम तक लड़ने का एलान किया।ड्ढr संवाददाता अलकडीहाड्ढr लोदना कोक प्लांट की नींव 10 में पड़ी थी। प्लांट में 36 भट्ठे हैं। जिसमें चार चालू अवस्था में थे। एक समय था कि प्लांट में काम करने वाले मजदूर खुशहाल थे। पर झरिया रलवे लाइन उखड़ने का असर इस प्लांट पर पड़ा। इससे उत्पादित होने वाला कोक की कीमत करीब साढ़े बारह हाार रुपया प्रति टन है। कीमती होने और ट्रांसपोर्टिग के अभाव में इसकी बिक्री पर प्रभाव पड़ा था। निजी भट्ठों के कारण भी प्लांट प्रभावित हुआ था। बावजूद मजदूर निराश नहीं थे। लेकिन आज बंदी से वैसे मजदूरों की आंखें छलक आयीं, जिनकी सेवा महा एक दो साल रह गयी है। उनके सामने स्थानांतरण की समस्या उत्पन्न हो गयी है। फिलहाल इस प्लांट में 246 मेन पावर तथा स्टॉक में करीब साढ़े सात हाार टन कोयला था। ड्ढr ड्ढr ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: संक्षिप्त खबर