DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

केदारनाथ के लिए बंद हो गयी हेलीकॉप्टर बुकिंगें

रुद्रप्रयाग। केदारनाथ के लिए अब हेलीकॉप्टर सेवा की बुकिंगें बंद हो गयी है। सभी हेलीकॉप्टर कम्पनियां केदारघाटी से दिल्ली लौट चली है। एक मात्र सेवा दे रही पिनैकल एवियेशन भी गुरुवार तक ही उड़ान भरेंगी। शुक्रवार को पिनैकल की सेवा भी बंद हो जायेगी। 4 मई को भगवान केदारनाथ के कपाट खुलने के करीब 12 दिन बाद डीजीसीए की अनुमति मिलते ही केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर सेवाएं शुरु हुई। एक सप्ताह के भीतर करीब 6 हेलीकॉप्टर कम्पनियां केदारनाथ के लिए सेवाएं देने लगी।

काफी तीर्थयात्रियों ने सुविधा को देखते हुए हेलीकॉप्टर से केदारनाथ की यात्रा की। करीब दो महीने चली सेवा के बाद अब मानसून आते ही हेलीकॉप्टर सेवाएं बंद हो गयी है। 5 हेली कम्पनियां पहले ही सामान समेटकर दिल्ली लौट गयी है जबकि पिनैकल ऐवियेशन गुरुवार को ही उड़ाने भरेगा।

पिनैकल के प्रबंधक पीके छावरी ने बताया कि शुक्रवार से पिनैकल की सेवा भी बंद हो जायेगी। बरसात थमने के बाद दोबारा सितम्बर में फिर से हेलीकॉप्टर कम्पनियां केदारघाटी पहुंचेगी और कपाट बंद होने से 10 दिन पूर्व तक अपनी सेवाएं देते रहेंगे।

ये कम्पनियां दे रही थी सेवाएं: रुद्रप्रयाग। केदारनाथ के लिए पवनहंस के साथ ही प्रभातम, आर्यन, पिनैकल, हिमालयन हेली और यूटी एयर सेवाएं दे रही है। हर साल की तरह इस साल भी सभी कम्पनियों ने मानसून को देखते हुए अपनी सेवाएं बंद कर दी है। सितम्बर माह में दोबारा सेवा शुरु होगी। खतरनाक है केदारघाटी में हेलीकॉप्टर उड़ाना: रुद्रप्रयाग। सामान्य मौसम में भी गौरीकुंड से केदारनाथ की पहाडिम्यों के बीच कब घना कोहरा छा जाए इसका पता नहीं चलता है।

ऐसे में बरसात के मौसम में तो स्थिति काफी विकट होती है। केदारघाटी की हर स्थिति को करीब से जानने के बाद हेलीकॉप्टर कम्पनियों के पायलट बरसात में हेलीकॉप्टर उड़ाने का जोखिम नहीं उठाते हैं। वैसे भी केदारघाटी में हेलीकॉप्टर उड़ाना इतना आसान नहीं है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:केदारनाथ के लिए बंद हो गयी हेलीकॉप्टर बुकिंगें