DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

युवाओं को बेरोजगार भत्ता मिलना बंद

कर्णप्रयाग। सतीश गैरोला। उत्तराखण्ड में बेरोजगार युवाओं को रोजगार सहकौशल विकास भत्ता देने की राज्य सरकार की योजना दम तोड़ गई है। हालत यह है कि पांच माह से प्रदेश के बेरोजगार युवक-युवतियों को बेरोजगारी का भत्ता नहीं मिल रहा है। सरकार द्धारा चलाई जा रही रोजगार सहकौशल विकास भत्ता योजना से जहां प्रदेश में बेरोजगारों को राहत मिल रही थी। वहीं उत्तर प्रदेश के बाद उत्तराखण्ड में भी योजना बंद होने के कगार पर दिख रही है।

बेरोजगारों का कहना है कि भत्ता मिलने से उनको थोड़ी राहत मिल रही थी, जो पैसा उनको भत्ते के रूप में मिल रहा था उससे वे अपनी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे थे। चमोली जिले में वर्तमान समय में 40 हजार 389 बेरोजगार पंजीकृत हैं। जिनमें से फरवरी तक 562 बेरोजगारों को भत्ता मिल रहा था। लेकिन उसके बाद पांच माह से भत्ता नहीं दिया जा रहा है। भत्ता प्राप्त करने वाले मनोरमा, राजेन्द्र, वन्दना, मीना, रोशनी, नरेश, दिनेश, अनीता, रजनी आदि का कहना है कि वे प्रत्येक माह भत्ता लेने के लिए बैंक में जाते हैं, लेकिन उनके खाते में पैसा नहीं आ रहा है।

कहा भत्ता न आने से उनकी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी पर बुरा प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने तुरन्त भत्ता देने की मांग की है। इस साल फरवरी माह तक विभाग ने 562 बेरोजगार लोगों को बेरोजगारी भत्ता दिया है। कुछ नये आवेदन आये हैं उनको भी सूचीबद्ध किया जा रहा है। फिलहाल फरवरी माह के बाद बेरोजगारों को भत्ता देने के लिए बजट ही नहीं आया है। जैसे ही बजट मिलेगा तो जो अभ्यर्थी भत्ता पाने के लिए पात्र होंगे उनके खाते में पैसा डाल दिया जायेगा। प्रवीण चन्द्र गोस्वामी, जिला सेवायोजन अधिकारी चमोली।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:युवाओं को बेरोजगार भत्ता मिलना बंद