DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सहायक लोको पायलट पेपर लीक मामलाः दो रेलवे अधिकारी गिरफ्तार

नई दिल्ली प्रमुख संवाददाता। रेलवे सहायक लोको पायलट पेपर लीक मामले में सीबीआई ने डिविजनल पर्सनल अधिकारी सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें से एक के आवास से सात लाख रुपये से अधिक की रकम भी बरामद की गई है। जांच के दौरान पता चला है कि लाखों रुपये की इस जालसाजी के मामले में रेलवे के कई अज्ञात अधिकारियों की भूमिका भी सक्रिय रही है। छापे के दौरान जब्त किए गए दस्तावेजों से उनके बारे में कुछ जानकारी जुटाई जा रही है।

सूत्रों ने बताया कि गत 29 जून को रेलवे भर्ती बोर्ड परीक्षा की तरफ से सहायक लोको पायलट, टेलीकम्युनिकेशन ग्रेड-2, टेक्नशिियन ग्रेड 3 आदि पदों के लिए परीक्षा होनी थी। उसी दौरान सीबीआई अधिकारियों को जानकारी मिली कि सतर्कता विभाग के एक निरीक्षक और एक अधविक्ता जी सिटीयम्पा की मदद से पेपर लीक किया गया है और उसे 13 परीक्षार्थियों को लाखों रुपये में बेचा गया है। इस सूचना पर सीबीआई टीम ने बेंगलुरू में छापा मारा और इन सभी 15 लोगों को गिरफ्तार कर लिया था।

सीबीआई जांच अधिकारियों ने इस सिलसिले में साजशि रच कर धोखाधड़ी करने और भ्रष्टाचार की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया था। मामले की जांच से जुड़े एक अधिकारी ने बताया तफ्तीश के दौरान यह बात सामने आई कि डिविजनल पर्सनल अफसर टी शिवामन और एक अन्य अधिकारी आर दयानंद की भूमिका भी पेपर लीक मामले में है और उनकी तलाश में कई स्थानों पर छापेमारी की जा रही थी। बताया गया कि इन दोनों अधिकारियों को मंगलवार शाम को बेंगलुरू से गिरफ्तार कर लिया गया।

दयानंद के घर पर हुई छापेमारी में सात लाख 50 हजार रुपये भी जब्त किए गए है। सूत्रों का कहना है कि मामले में रेलवे के और भी अधिकारी हैं जिनकी भूमिका की जांच की जा रही है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सहायक लोको पायलट पेपर लीक मामलाः दो रेलवे अधिकारी गिरफ्तार