DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

ऐसे आए डॉगी..

ऐसे आए डॉगी..

घर में अगर कुत्ता हो तो तुम्हें खेलने के लिए एक साथी मिल जाता है। फिर तो तुम उसके साथ खाते हो, सोते हो और खूब मजे करते हो। स्कूल से घर पहुंचते ही तुम्हें सबसे पहले टॉमी के साथ खेलना होता है। तुम उसके लंबे कान खींचते हो, तो कभी उसे गोद में लेते हो। पर क्या तुम यह जानते हो कि ये डॉगी कहां से आए?

वैज्ञानिकों का मानना है कि लंबे कान और लंबे दांतों वाले ये कुत्ते 12,000 साल पहले भेड़िये हुआ करते थे। उस वक्त जब इंसान ने बंजारों की तरह जीना छोड़ बस्ती में रहना शुरू किया तो कुछ भेड़िये और जंगली कुत्ते भी बस्ती के आसपास मंडराने लगे। जो बचा-खुचा खाना इंसान फेंक दिया करते थे, ये भेड़िये उन्हें खा लिया करते थे। धीरे-धीरे ये जानवर इंसान के अच्छे दोस्त बनने लगे।

वे उन्हें आने वाले खतरों से आगाह करते थे। इंसान भी इन पर भरोसा करने लगे और उन्हें शिकार करने साथ ले जाने लगे। उन्होंने महसूस किया कि ये जानवर न केवल भरोसेमंद साथी हैं, बल्कि ये बुद्धिमान भी हैं। कुछ समय बाद इंसान ने उन्हें पालतू बनाना शुरू किया और जिन कुत्तों में कुछ खास गुण दिखे, उनकी ब्रीडिंग (नियंत्रित प्रजनन की प्रक्रिया) करनी शुरू की। सदियों से इन ब्रीड्स को विशेष काम के लिए तैयार किया जाता रहा है, जैसे शिकार, झुंड में एकत्रित होना और पहरेदारी।

आज के समय में ज्यादातर पेट्स के रूप में इन्हें घर में रखा जाता है। 12,000 वर्षों से ज्यादा समय से कुत्ते इंसान के साथी, संरक्षक और एक ईमानदार दोस्त के तौर पर माने जाते हैं। कुत्ते ऐसे पहले जानवर हैं, जिन्हें पालतू बनाया गया। फॉसिल्स का अध्ययन करने वाले वैज्ञानिकों ने पाया है कि 4500 बीसी में पांच अलग-अलग प्रजातियों के कुत्ते अस्तित्व में थे। इनके नाम मैस्टिफ्स, भेड़िये-जैसे कुत्ते, साइट हाउंड्स, प्वॉइंटिंग डॉग्स और हर्डिग डॉग्स हैं। आज दुनिया में करीब 400 विभिन्न प्रजाति के कुत्ते अस्तित्व में हैं।  

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:ऐसे आए डॉगी..