DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हिटजफेल्ड की फुटबॉल से भावनात्मक विदाई

हिटजफेल्ड की फुटबॉल से भावनात्मक विदाई

ओटमार हिटजफेल्ड ने मंगलवार को विश्व कप में अर्जेंटीना के हाथों नाट्कीय हार और अपने भाई के निधन के बाद अपनी स्विस टीम और फुटबॉल से भावनात्मक विदाई ली।

अपने भाई विनफ्राइड (81 वर्ष) का ल्यूकेमिया के कारण निधन के बावजूद हिटजफेल्ड ने कोच के रूप में अपने आखिरी मैच में अर्जेंटीना को उलटफेर का शिकार बनाने के लिए अच्छी रणनीति बनायी।

उन्होंने कहा कि अतिरिक्त समय की हार ने उन्हें 1999 चैंपियन्स लीग फाइनल की याद दिला दी जब उनकी टीम बायर्न म्यूनिख जीत से कुछ मिनट दूर थी लेकिन तभी मैनचेस्टर यूनाईटेड ने दो गोल दाग दिये।

हिटजफेल्ड ने कहा कि स्विस टीम जब पेनल्टी शूटआउट से केवल दो मिनट दूर थी तब उन पर भावनाओं का ज्वार हावी था। अतिरिक्त समय के अंतिम क्षणों में एंजेल डि मारिया के गोल ने हालांकि स्विटजरलैंड की उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

उन्होंने कहा, ऐसी भावनाएं केवल फुटबॉल में हो सकती हैं और यही वजह है कि मैं फुटबॉल को चाहता हूं। स्विटजरलैंड ने आज दुनिया भर के लाखों दिलों को जीता है और यह ऐसा कुछ है जिस पर हमें गर्व करना होगा।

इस 65 वर्षीय कोच ने पहले ही घोषणा कर दी थी वह विश्व कप के बाद संन्यास ले लेंगे। उन्होंने कहा, मैं टीवी के लिए काम करूंगा। मैं मैचों में जाउंगा पर पत्रकार के रूप। इसलिए मेरे सामने अब शांत जीवन है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हिटजफेल्ड की फुटबॉल से भावनात्मक विदाई