DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

जिला अस्पताल में वसूली पर जमकर हंगामा

वरिष्ठ संवाददाता अलीगढ़। जिला अस्पताल में मंगलवार को अवैध वसूली के विरोध में छात्रों ने जमकर हंगामा काटा। बाद में हंगामा करने वाले छात्रों के पैसे लौटा दिए गए और मामले को रफा दफा कर दिया गया। जिला अस्पताल और सीएमओ ऑिफस में इन दिनों यूपीटीयू, बीएड व अन्य प्रवेश परीक्षाओं में सफलता हािसल करने वाले छात्र, छात्राएं बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं।

इन सभी को एडिमशन के लिए फिजीकली फिट होना जरूरी है। प्रमाणपत्र केवल सीएमओ और सीएमएस का ही मान्य होगा। ऐसे में बाबू जमकर चांदी काटने को उतारू हैं। पिछले साल भी मेडिकल के नाम पर प्रित छात्र 108 रुपये की अवैध वसूली के आरोप पर हंगामा भी हुआ था,जिंसकी जांच अभी तक चल रही है। लेकिन पिछली बार खुले पैसे को लेकर भी वसूली में काफी दिक्कत हुई थी, इसलिए इस बार वसूली का खुला रेट है 100 रुपये।

लेकिन कोई रसीद नहीं है। हां, जो छात्र विरोध करे तो उसे थोड़ा परेशान किया जाता है, मसलन जाओ टेस्ट कराकर आओ, अब तो दो बज गए टेस्ट नहीं होंगे, कल आना वगैरह वगैरह.। बाकी सब के लिए सब माफ। अगर कोई ज्यादा ही हंगामा करे तो उससे पैसे नहीं लिए जाते। मंगलवार कोजिंला अस्पताल में सीएमएस के पास वाले कमरे के बाहर जमा कुछ छात्रों को जब यह पता चला कि अवैध वसूली हो रही है तो उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया और अपने पैसे वापस मांगे।

बाबू ने हंगामा शांत करने को डपटा भी, लेकिन वे नहीं माने और सीएमएस से मिलने कीजिंद करने लगे। सीएमएस राउंड पर थे, इसलिए छात्रों की उनसे मुलाकात नहीं हो सकी। बाद में जब बाबू को लगा कि छात्र सीएमएस से शिकायत कर सकते हैं तो उन्होंने रुपए लौटा दिए तो हंगामा शांत हो गया। उधर सीएमएस का कहना है कि मामला उनकी जानकारी में नहीं है। मेडिकल के नाम कोई पैसे नहीं लिए जा रहे। इस मामले में वह बाबू से पूछताछ करेंगे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:जिला अस्पताल में वसूली पर जमकर हंगामा