DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

क्राइम ब्रांच को नहीं मिल रहे ‘ईमानदार’ वर्दीवाले

बरेली। कार्यालय संवाददाता। बहादुर, कर्त्तव्यनिष्ठ और ईमानदार..। ऐसे ही पुलिसवालों को तलाश कर क्राइम ब्रांच की इंटेलीजेंस विंग बनाई जानी है। इसके लिए बाकायदा पूरे जिले से आवेदन भी मांगे गए थे। लेकिन जो परिणाम सामने आया, वह चौंकाने वाला है। थानों पर तैनात एक भी दरोगा, सिपाही वहां से हटने को तैयार नहीं है।

किसी ने भी इंटेलीजेंस विंग में जाने की इच्छा नहीं जताई और अब ववशि होकर आवेदन की तारीख अब और बढ़ाई जा रही है। एसएसपी जे रविंदर गौड ने क्राइम ब्रांच की इंटेलीजेंस विंग को लाइन हाजिर कर दिया था। नई इंटेलीजेंस विंग बनाने के लिए उन्होंने पुलिसवालों से आवेदन करने को कहा था। साथ ही एक समिति का गठन किया गया है, जो इन पुलिसवालों का टेस्ट लेगी। माफिया, गैंग, बदमाशों के बारे में जानकारी के साथ ही उनसे हाल में हुए अपराध, क्राइम स्टाइल के बाबत सवाल पूछे जाएंगे।

इसमें सफल होने वाले पुलिसवालों का समिति इंटरव्यू लेगी और उसमें पास होने पर ही उनको इंटेलीजेंस विंग में शामिल किया जाएगा। एसएसपी ने बहादुर, कर्तव्यनिष्ठ और ईमानदार पुलिसवालों को वरीयता देने का निर्देश दिया है जिनका पुराना रिकार्ड बेदाग, आरोपमुक्त हो। आवेदन मांगे कई दिन हो गए और 30 जून को आखिरी तारीख बीत जाने के बाद भी गिनती के आवेदन पहुंचे। सभी उन पुलिसवालों के ही हैं जो पहले ही क्राइम ब्रांच में शामिल थे। दिलचस्प ये कि थानों, चौकियों पर तैनात दरोगा और सिपाहियों में से किसी ने भी आवेदन नहीं किया है।

--आवेदन तो आए हैं लेकिन बहुत कम। अब आवेदन की तारीख और बढ़ाई जाएगी। साथ ही समिति में शामिल अधिकारियों से बातचीत कर शीघ्र इंटेलीजेंस विंग का गठन कर लिया जाएगा। - डा. एसपी सिंह, एसपी क्राइम।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:क्राइम ब्रांच को नहीं मिल रहे ‘ईमानदार’ वर्दीवाले