DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

पूर्व सांसद प्रभुनाथ का छपरा कोर्ट में सरेंडर

एक प्रतिनिधि छपरा। महाराजगंज के पूर्व सांसद व राजद के विरष्ठ नेता प्रभुनाथ सिंह ने मंगलवार को छपरा कोर्ट में सरेंडर किया। सीजेएम ए. के. झा के कोर्ट में सरेंडर करने के बाद दोनों पक्षों के अधिवक्ताओं ने अपनी-अपनी बात रखी।

दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद सीजेएम ने पूर्व सांसद व उनके सचिव जीतेन्द्र कुमार सिंह को जमानत देने का आदेश दिया। सीजेएम ने नगर थाने में दर्ज प्राथिमकी के मामले में दस हजार रुपये के दो बेल बॉण्ड और भगवान बाजार थाने में दर्ज प्राथिमकी में सात हजार रुपये के दो बेल बॉण्ड भरने का निर्देश पूर्व सांसद को दिया।

इसके पूर्व बचाव पक्ष के अधिवक्ता पुण्डरीक बिहारी सहाय व नीरज श्रीवास्तव ने कहा कि पूर्व सांसद के खिलाफ लगाये गये आरोप पूरी तरह गलत हैं।

वहीं अभियोजन पक्ष से जिला अभियोजन पदाधिकारी विजय प्रताप सिंह ने कहा कि पूर्व सांसद को जमानत नहीं मिलनी चाहिए। मालूम हो कि लोकसभा चुनाव के दौरान 16 अप्रैल को भगवान बाजार व नगर थाने में राजद्रोह समेत अन्य धाराओं मेंजिंला प्रशासन ने प्राथिमकी दर्ज कराई थी।

इसके बाद पूर्व सांसद ने अपने अधिवक्ता नीरज श्रीवास्तव व दीपक सिन्हा के माध्यम से डीजे कोर्ट में अग्रिम जमानत संबंधी आवेदन दिया था। जिंला जज ने जमानत संबंधी आवेदन पर सुनवाई पूरी करते हमुए पिछले सात जून को अपना निर्णय सुनाया था।

निर्णय में जिंला जज ने कहा था कि आब्जर्वेशन के दौरान पाया गया कि पूर्व सांसद के खिलाफ राजद्रोह का मामला नहीं बनता है। वहीं नगर थाने में दर्ज प्राथिमकी में निचली अदालत में सरेंडर कर नियिमत जमानत कराने का निर्देश पूर्व सांसद को दिया था।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:पूर्व सांसद प्रभुनाथ का छपरा कोर्ट में सरेंडर