DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

किसने बनाया यह शेडय़ूल, जीना हुआ मुहाल

बिजनौर। कार्यालय संवाददाता। रमजान में बनाया गया नया शेडय़ूल लोगों के लिए मुसीबत बन गया है। एक तो शेडय़ूल के आधार पर सप्लाई मिल नहीं रही है। दूसरे नौकरीपेशा, विद्यार्थियों और गृहणियों को नए शेडय़ूल से खासी दिक्कतों से दो-चार होना पड़ रहा है। रमजान के मद्देनजर पीवीवीएनएल ने नया शेडय़ूल जारी किया था, लेकिन यह शेडय़ूल परेशानियों का सबब बना हुआ है।

शेडय़ूल के मुताबिक शाम छह बजे से सुबह पांच बजे तक निर्बाध आपूर्ति होनी है। लेकिन, शेडय़ूल जारी होने के तीन दिन बीतने के बाद भी एक भी रात में इसका पालन नहीं हो पाया है। सोमवार रातभर बिजली की आंख-मिचौली चलती रही। आने से ज्यादा समय बिजली गुल रही। सुबह सवा चार बजे गई बिजली सवा आठ बजे ही आई। बामुश्किल 20 मिनट के बाद जाने के बाद दोपहर में भी चंद मिनटों के लिए दो-तीन बार बिजली के दर्शन हुए।

यह हालत तो तब थे, जब बारिश हो जाने के कारण तापमान कम था, मौसम सुहाना था। इसके बाद शाम छह बजे ही आपूर्ति मिल सकी। नौकरीपेशा और बच्चों को सबसे ज्यादा पेरशनीनए शेडय़ूल से सबसे ज्यादा परेशानी नौकरीपेशा और विद्यार्थियों को हो रही है। मंगलवार से स्कूल खुल चुके हैं। सुबह ऑफिस या स्कूल जाने के समय बिजली नहीं होती है। क्योंकि नए शेडय़ूल के मुताबिक सुबह छह से आठ तक कटौती है। इसके बाद भी आपूर्ति कटौती में निकल जाती है।

गृहणियों का कहना है कि दिनभर की आंख-मिचौली के चलते पसंदीदा सीरीयल्स देखना भी दूभर हो गया है। इनवर्टर हुए फेललंबे समय तक बिजली गायब रहने के चलते लोगों के इनवर्टर शोपीस साबित हो रहे है। आवास विकास कॉलोनी निवासी कल्पना शर्मा, निधि गुप्ता आदि का कहना है कि पुराने शेडय़ूल में कटौती और आपूर्ति दोनों बैलेंस थी, जिसके चलते इनवर्टर चार्ज हो जाता था। लेकिन अब दिनभर बिजली नहीं आने से इनवर्टर दोपहर तक ही दम तोड़ देता है, जिससे काफी पेरशानी का सामना करना पड़ रहा है।

फोन करने पर धमकाते हैं अफसरलोगों का कहना है कि अगर शाम के बाद पीवीवीएनएलकर्मियों को फोन कर बिजली के बारे में जानकारी करनी चाहे तो कर्मी हड़का देते हैं। सोमवार रात तकरीबन पौने 11 बजे आवास विकास कॉलोनी निवासी एक व्यक्ति ने पीवीवीएनएलकर्मी के सीयूजी नंबर पर आपूर्ति के संबंध में जानकारी चाही तो पहले कई घंटियों तक फोन ही रिसीव नहीं किया गया। बाद में कर्मी ने सोने का समय होने की बात कहकर आइंदा सीयूजी नंबर पर फोन नहीं करने की नसीहत देकर फोन काट दिया।

कोढ़ में खाज बनी पानी सप्लाईनए शेडय़ूल के मुताबिक पानी सप्लाई भी परविर्तित हो गई है। सुरेंद्र नगर, कांशीराम कॉलोनी, आवास विकास, शक्ति नगर आदि कॉलोनियों में पहले पानी की सप्लाई दस बजे तक होती थी, लेकिन शेडय़ूल चेंज होने के कारण अब यहां आपूर्ति सुबह साढ़े सात बजे तक ही रह गई है। दिन में भी थोड़े-बहुत समय के लिए पानी आ रहा है। गृहणियों का कहना है कि दो दिन में ही पानी सप्लाई के चलते घर के आावश्यक काम रात को करने पड़ रहे है।

कोटशेडय़ूल के संबंध में कुछ शिकायत मिली है। इनको ध्यान में रखकर विचार किया जा रहा है। शेडय़ूल के मुताबिक बिजली देने का प्रयास किया जा रहा है। कभी-कभी ओवरलोड के चलते कटौती करनी पड़ जाती है। सरकार की नीतियों के अनुसार जनपद को आपूर्ति उपलब्ध कराई जाएगी। राजकुमार अग्रवाल, अधीक्षण अभियंता, पीवीवीएनएल, बिजनौर।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:किसने बनाया यह शेडय़ूल, जीना हुआ मुहाल