DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

10 वर्ष की उम्र में शादी कर भेजा ससुराल

हमारे संवाददाता पलवल। लड़की की छोटी उम्र में शादी करना अपराध है। सरकार ने शादी की जो उम्र बनाई है, उसके हिसाब से ही शादी करनी चाहिए। बाल विवाह का एक ताजा मामला सामने आयाजिंसमें 10 वर्ष की उम्र में ही लड़की की शादी कर उसे ससुराल भेज दिया गया। पुलिस ने मामले में बिना कोई कार्रवाई करते हुए आरोपियों को छोड़ दिया और शिकायत आने की बात कहकर मामले को टालमटोल कर दिया।

जानकारी के अनुसार कैंप थाना क्षेत्र मेंजिंला मथूरा के गांव हुसैनी सेरगढ़ निवासी लखन नामक युवक यहां की न्यू-एक्सटेंशन कॉलोनी में मां श्यामवती व पत्नी योगिता के साथ किराए के मकान में रह रहा था। कैंप थाना प्रभारी साधूराम ने बताया कि सोमवार को पुलिस को किसी ने फोन पर सूचना दी कि न्यू-एक्सटेंशन कालोनी स्थित एक मकान में एक नाबालिग लड़की के साथ मारपीट की जा रही है और वह जोर-जोर से चीख कर बचाओ-बचाओ चिल्ला रही है। पुलिस सूचना पाकर मौके पर पहुंची और वहां मौजूद किराएदार को पकड़ कर थाने ले आई।

थाने में पूछताछ के दौरान पता चला कि वह नाबालिग लड़की मारपीट करने वाले युवक लखन की 12 वर्षीय पत्नी योगिता है। मारपीट करने वाले युवक लखन ने उसके साथ करीब दो साल पहले शादी की थी और उसे पलवल ले आया था जहां वह किराए के मकान में रह रहा था। लेकिन वह उसके साथ मारपीट करता था।

पुलिस का कहना है कि मामले में पुलिस को किसी ने कोई शिकायत नहीं दी है। शिकायत आने के बाद ही कार्रवाई की जाएगी।

वहीं नाबालिग लकड़ी की सास श्यामवती का कहना है कि उसके साथ कोई मारपीट नहीं की जाती है, वह उसे बेटी की तरह रख रही है। उसका ये भी कहना था कि उनकी जाति में जल्द ही लड़कियों की शादी कर दी जाती है।

हरियाणा महिला आयोग की वाइस चेयरपर्सन सुमन दहिया का कहना है कि बाल विवाह करना समाज में बड़े् शर्म की बात है। यह एक गंभीर समस्या है। समाज से बाल विवाह समाप्त होना चाहिए, इसलिए सरकारी ने इसके लिए कड़े कानून बनाए हैं।

अगर कोई भी माता-पिता अपनी नाबालिग बेटी की शादी करता है तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:10 वर्ष की उम्र में शादी कर भेजा ससुराल