DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

मंदिर प्रबंधन एक्ट में संशोधन हो : अठावले

बौद्ध धर्मानुयायियों का सर्वोच्च तीर्थस्थल महाबोधि महाविहार का प्रबंधन बौद्धों के हाथ में होना में चाहिए। रिपब्लिक पार्टी ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष रामदास अठावले ने मंगलवार को यहां आहूत प्रेस वार्ता में उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि दूसरे धर्मो के साथ ऐसी व्यवस्था नहीं है लेकिन महाबोधि मंदिर की प्रबंधन व्यवस्था में बौद्ध और हिन्दू दोनों की बराबर भागीदारी दी गई है। रामदास ने कहा कि मंदिर प्रबंधन एक्ट में संशोधन होना चाहिए। समिति में पांच बौद्ध सदस्य तथा तीन हिन्दू सदस्य रखे जाएं।ड्ढr ड्ढr उन्होंने नीतीश सरकार से मांग की कि समिति का पदेन अध्यक्ष गया के डीएम तो होंगे, लेकिन वे किसी भी धर्म के हो सकते हैं। हिन्दू होने की बाध्यता समाप्त होनी चाहिए। उन्होंने सरकार से बोधगया के विकास, बीटीएमसी द्वारा धर्मशाला का संचालन करने तथा बुद्ध जयंती के अवसर पर आगत तीर्थयात्रियों की सुविधा हेतु 50 लाख रुपए मुहैया कराने की मांग की है। उन्होंने नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल पटेल से मिलकर गया हवाई अड्डा से नागपुर, मुंबई, दिल्ली शहरों से विमान सेवा शुरू कराने की बात कही। श्री अठावले ने बिहार में अपनी पार्टी का विस्तार करने के लिए आगामी लोस चुनाव में राजद तथा लोजपा के साथ रहने तथा जदयू को भाजपा का साथ छोड़ देने की अपील की।ं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title: मंदिर प्रबंधन एक्ट में संशोधन हो : अठावले