DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

संक्रमण से गुरुनानक अस्पताल में ऑपरेशन बंद

संक्रमण से गुरुनानक अस्पताल में ऑपरेशन बंद

दिल्ली सरकार का सबसे बड़े गुरुनानक नेत्र चिकित्सालय का ऑपरेशन थियेटर बीते 15 दिन से बंद पड़े है। ओटी में संक्रमण होने के कारण फिलहाल किसी भी मरीज का ऑपरेशन नहीं हो पा रहा है। इससे पहले  संक्रमण की पहचान न होने की वजह से 12 मरीजों को सेप्टिक हो गया था। इसके बाद तुरंत प्रभाव से ओटी पर ताला लगा दिया गया।

अस्पताल के पहले तल पर स्थित नेत्र ओटी में रोजाना 60 से 70 मरीजों का ऑपरेशन किया जाता है। इसमें ग्लूकोमा, काला मोतिया, रेटिना की सर्जरी सहित ओपीसी (आंख से पानी आने का इलाज) आदि शामिल हैं। 30 मई के करीब अस्पताल में सर्जरी होने के बाद सभी मरीजों की आंखों में सेप्टिक हो गया। इनमें से एक मरीज का इलाज अब भी प्राइवेट वार्ड के नर्सिग रूम में किया जा रहा है। संक्रमण की आशंका होने के बाद निरीक्षण कमेटी ने ओटी का मुआयना किया।

सूत्रों की मानें तो इससे पांच से छह दिन पहले ही एक और टीम ने संक्रमण की जांच की थी लेकिन उसने केवल गंदगी की बात कही थी। हालांकि संक्रमण की पुष्टि होने के बाद छह जून को उपराज्यपाल के निर्देश पर जांच कमेटी ओटी का मुआयना करने पहुंची। इसके बाद ओटी को बंद कर दिया गया। हालांकि अब भी अस्पताल के वार्ड में ऑपरेशन के लिए 104 मरीज भर्ती हैं। इस बाबत अस्पताल के निदेशक डॉ. बी बोस ने बताया कि संक्रमण को दूर करने की कोशिश की जा रही है। अभी यह नहीं कहा जा सकता कि कब तक सेवा को सुचारू किया जा सकेगा।

निर्माण कार्य हो सकता है वजह
अस्पताल अभी तक संक्रमण की वजह को नहीं ढूंढ पाया है। इसके बावजूद कहा जा रहा है कि ओपीडी में ही लंबे समय से जारी निर्माणाधीन काम की वजह से संक्रमण हो सकता है। इससे पहले भी दो से तीन बार ओटी में संक्रमण पाया गया था लेकिन इसका असर मरीजों पर पहली बार देखा गया।

सफेद मोतियाबिंद होने के कारण डॉक्टर ने बीते गुरुवार को सर्जरी के लिए बुलाया था, आज भी केवल दवा देकर ही वापस भेजा जा रहा है। सर्जरी के लिए अब दो हफ्ते बाद आने के लिए कहा गया है।
-मिठाईलाल, सोनिया विहार से इलाज के लिए आए

बेटे के इलाज के लिए अस्पताल में आई थी, उसकी आंख से दस दिन से पानी आ रहा है। निजी चिकित्सक ने सर्जरी की बात कही थी, लेकिन यहां कब सर्जरी कब होगी इसकी जानकारी किसी के पास नहीं है।
-इस्तेखार, ओखला से इलाज के लिए आईं

दो हफ्ते पहले ओपीडी में इलाज शुरू किया था, डॉक्टरों ने पति को काला मोतिया बताया है, जिसके लिए सर्जरी की जरूरत है। फिलहाल केवल दवाएं और आईड्रॉप दिए जा रहे हैं। सर्जरी कब होगी, इसका कुछ पता नहीं।
-मधुबाला, अशोक विहार से आईं

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:संक्रमण से गुरुनानक अस्पताल में ऑपरेशन बंद