DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

डार्क विषयों में एक ईमानदारी होती है : अनुराग

डार्क विषयों में एक ईमानदारी होती है : अनुराग

फिल्मकार अनुराग कश्यप को अपनी फिल्मों में समाज की वास्तविकता सामने लाना पसंद है। उनकी ‘ब्लैक फ्राइडे’, ‘देव डी’ और ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ ऐसी ही फिल्मों की बानगी हैं।

अनुराग की आगामी फिल्म ‘अग्ली’ जल्द ही प्रदर्शित होने वाली है। उनका कहना है कि वह अपनी फिल्मों के लिए ऐसे विषय चुनते हैं, क्योंकि वह सच को सामने लाने में विश्वास करते हैं।

अनुराग ने बातचीत में कहा कि मुझे लगता है कि डार्क विषयों में एक तरह की ईमानदारी और सच्चाई होती है। बाकी सब धोखा होता है, जैसे केक को ऊपर से सजा कर पेश किया जाए। मैं वास्तविकता में विश्वास करता हूं और वही अपने दर्शकों को दिखाता हूं।’’

अपनी आने वाली फिल्म ‘अग्ली’ में भी उन्होंने यही किया है, जिसका प्रदर्शन पिछले दिनों जम्मू एवं कश्मीर में तीसरे लद्दाख अंतर्राष्ट्रीय फिल्म फेस्टीवल (एलआईएफएफ) में किया गया।

अनुराग ने इस फिल्म के लिए कई सारी वास्तविक घटनाओं पर शोध किया। उन्होंने मीडिया से आग्रह किया कि फिल्म के बारे में अभी किसी भी तरह का खुलासा न करें, लेकिन इतना तो कहा जा सकता है कि यह फिल्म आपको अपनी कुर्सी से चिपके रहने को मजबूर कर देगी।

इस साल कांस फिल्म महोत्सव में दिखाई जा चुकी फिल्म 19 सितंबर को प्रदर्शित हो रही है। अनुराग ने अपनी फिल्म के लिए प्रशंसा बटोरने और महोत्सव का आनंद लेने के साथ साथ लेह की खूबसूरत वादियों में धूप का लुत्फ भी उठाया।

अनुराग ने बातचीत के दौरान टेलीविजन पर आने वाले अपने धारावाहिक ‘युद्ध’ के बारे में भी चर्चा की। उन्होंने बताया कि इस परियोजना में ऐसी कई चीजें थीं, जिन्होंने उन्हें आकर्षित किया।

उन्होंने कहा, ‘‘यह रोमांच से भरा है। मिस्टर बच्चन (अमिताभ बच्चन) टीवी पर काम करना चाहते थे और इसके लिए जोखिम उठा रहे थे। एक इंसान जो 70 साल की उम्र में जोखिम ले रहा है और इतने जोश से खुद आगे बढ़कर इस परियोजना में लगा है, सच में यह कमाल है।’’

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:डार्क विषयों में एक ईमानदारी होती है : अनुराग