DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

रमजान के पाक महीने में करे अल्लाह की इबादत

ककराला। हिन्दुस्तान संवाद। कस्बे में आलमी तहरीक दावते इस्लामी ने आमदे रमजान की खुशी में एक अजीमुशान इज्तिमा का आयोजन किया। इज्तिमा का आगाज बरेली से आये कारी राहत कमाल साहब ने कुरआन पाक की तिलावत से किया। बरेली से तशरीफ लाये दावते इस्लामी के सूबे के नगिरान अल-हाज सैय्यद मजहर नूरी ने अपने बयान में रमजान के मुबारक महीने पर रोशनी डालते हुए कहा कि रमजान के रोज हर मुसलमान मर्द औरत पर फर्ज है।

नबी करीम ने फरमाया ऐ लोगों तुम्हारे पास अजमत वाला बरकत वाला महीना आया। जिसमें एक रात ऐसी भी है जो हजार महीनों से बेहतर है । सैय्यद साहब ने कहा कि हमारे नबी इस महीने में अल्लाह की दिन रात इबादत करते थे और गरीबों यतीमों में खूब सदकात करते थे। आपके दर से कोई खाली नहीं जाता । इस लिये हम को चाहिए कि इस पाक महीने का अदब करें और इसमें अल्लाह की खूब खूब इबादत करें। राजे में नमाज की पाबंदी करें।

गुनाहों से परहेज करें जुआ, शराब, झूट , गाली, चुगली, लड़ाई झगड़ो से दूर रहें और गरीबों व यतीमों की ज्यादा से ज्यादा मदद करें। पडोसियों का ख्याल रखें। आपस में भाईचारे से रहें। अपने मुल्क से मोहब्बत करें और अमन का पैगाम दें। इस महीने में अल्लाह का खास करम अपने नेक बंदों पर होता है। अच्छे काम करके अल्लाह करीबी बंदे बन जायें और जन्नत के हकदार बन जायें। बुरे काम करके जहन्नुम के हकदार न बनें । फिर सलात व सलाम के साथ मुल्क व कौम की तरक्की के लिये दुआ हुई।

आखिर में कस्बे के जिम्मेदार मुदस्सिर खान ने बाहर से आये हुए मेहमानों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर मौलाना शोएब, ताहिर सकलैनी, मोहसिन खान, कमर अत्तारी, शाहिद सकलैनी, गुड्डू चौधरी आदि मौजूद रहे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:रमजान के पाक महीने में करे अल्लाह की इबादत