DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

विधानसभा में उठा गोरखपुर में फूड पार्क का मामला

गोरखपुर। कार्यालय संवाददाता। गोरखपुर में प्रस्तावित फूड पार्क के न बन पाने का मामला सोमवार को विधानसभा में उठा। भाजपा विधायक दल के मुख्य सचेतक एवं नगर विधायक डॉ. राधा मोहन दास अग्रवाल ने कार्यस्थगन प्रस्ताव के माध्यम से मामला उठाते हुए गीडा के लापरवाह अधिकारियों के विरुद्ध कार्रवाई किए जाने की मांग की।

नगर विधायक डॉ. अग्रवाल ने बताया कि उन्होंने फूड पार्क के मामले में गीडा के अधिकारियों की लापरवाही से सदन को अवगत कराया। उन्होंने कहा कि एक ओर सरकार भी स्वीकार कर रही है कि पूर्वी उप्र में बहुत कम पूंजी निवेश हुआ है।

उसमें भी जो धनराशि भारत सरकार द्वारा भेजी गई, उसका भी उपयोग नहीं किया गया। भारत सरकार ने गोरखपुर, वाराणसी, बाराबंकी और सहारनपुर में फूड पार्क की स्थापना के लिए स्थल चयन कराया था। इसके लिए 14 करोड़ रुपये स्वीकृत किए।

प्रथम चरण में चार करोड़ रुपए अवमुक्त भी किए किए। इसमें प्रदेश सरकार ने 90 लाख रुपए गीडा को भेजा, लेकिन गीडा ने इस दिशा में कुछ भी नहीं किया। वह भी तब जबकि 115 एकड़ भूमि फूड पार्क के लिए आवंटित किए गए हैं।

उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि फूड पार्क के लिए आरक्षित भूमि में से 80 एकड़ भूमि को एक निजी कम्पनी को आवंटित कर दिया गया है। उन्होंने इस प्रकरण की भी जांच कराने की मांग की।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:विधानसभा में उठा गोरखपुर में फूड पार्क का मामला