DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हूल क्रांतिकारियों को राजनीतिक दलों ने दी श्रद्धांजलि

जमशेदपुर संवाददाता। राजनीतिक दलों के नेताओं ने भी सोमवार को हूल दिवस के मौके पर सिद्धो-कान्हो, चांद-भैरव व फूलो-झानों को याद करते हुए श्रद्धांजलि दी गई। भाजपा और आजसू पार्टी के नेताओं ने बिरसानगर और भुइयांडीह स्थित क्रांतिकारियों की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी।

स्थानीय विधायक रघुवर दास ने बिरसानगर के गुड़िया मैदान में आयोजित हुल क्रांति दिवस समारोह में हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि वीर सपूतों ने ईस्ट इंडिया कंपनी की सेनाओं को धूल चटाया था। वह भविष्य में भी हमारा पथ प्रदर्शक बना रहेगा।

हमें गरीबी, बेरोजगारी और आर्थिक विषमता से संघर्ष करने की जरूरत है। इसके लिए हमें फौलादी इरादों के साथ एक बार फिर क्रांतिकारियों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी। भाजपा अनुसूचित-जनजाति मोर्चा भाजपा अनुसूचित-जनजाति मोर्चा जमशेदपुर महानगर के नेतृत्व में भुइयांडीह में हूल क्रांति दिवस मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता मोर्चा अध्यक्ष काजू सांडिल ने की। इस मौके पर मुख्य अतिथि भाजपा महानगर अध्यक्ष राजकुमार श्रीवास्तव थे। इस मौके पर श्रद्धांजलि देने वालों में बारी मुर्मू, अंजन सरकार, नरेश पासवानस पोरेश मुखी, शैलेश गुप्ता, अशोक हेम्ब्रम, सुंदर सामंत, विनोद मुंडा, कुसुम दत्ता, प्रिया मुंडा सहित अन्य लोग शामिल थे।

जनता दल युनाइटेड(जदयू) जनता दल युनाइटेड(जदयू) के महानगर अध्यक्ष डॉ. पवन कुमार पांडेय के नेतृत्व में हूल दिवस के मौके पर झारखंड के सपूतों को श्रद्धांजलि दी गई। वहीं, भाजपा सीतारामडेरा मंडल की ओर से सिद्धो-कान्हो स्मारक स्थल का सौंदर्यीकरण करने की मांग की गई। आजसू पार्टी आजसू पार्टी के वरिष्ठ चंद्रगुप्त सिंह ने भुइयांडीह स्थित क्रांतिकारी वीर सपूत सिद्धो-कान्हो की प्रतिमा पर माल्यापर्ण कर श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि हूल दिवस पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए कहा कि वर्तमान में युवाओं को रोजगार, आर्थिक विषम परस्थिति और के खिलाफ क्रांति लानी होगी, तभी नया झारखंड का निर्माण हो सकेगा।

उन्होंने कहा कि झारखंड का सपना आज भी अधूरा है। इस मौके पर समरेश सिंह, विनोद भगत, मंगल राम, लल्लू राम सहित अन्य लोग मौजूद थे।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:हूल क्रांतिकारियों को राजनीतिक दलों ने दी श्रद्धांजलि