DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सदन में सजग, सतर्क व तत्पर रहें : जदयू

पटना। हिन्दुस्तान ब्यूरो। जदयू विधायक दल की बैठक में विधायकों को विपक्ष को करारा व मुंहतोड़ जवाब देने का मंत्र दिया गया है। एक अणे मार्ग में सोमवार की देर शाम शुरू हुई बैठक में मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी व पूर्व सीएम नीतीश कुमार ने विधायकों को सत्र के दौरान सजग, सक्रिय और तत्पर रहने को कहा।

हर सदस्य को सदन में अनिवार्य रूप से उपस्थित रहने को कहा गया। सीएम ने कहा कि विरोधी दल सरकार को अस्थिर करना चाह रहे हैं। सत्र महत्वपूर्ण है। इसलिए यह जरूरी है कि सदन में सभी सदस्य बने रहें। जो नए मंत्री बने हैं, वे पूरी तैयारी से सदन में आएं। किसी सदस्य की ओर से पूछे गए सवालों का ठोस जवाब दें। राज्यसभा उप चुनाव में जदयू को मिली जीत का श्रेय पूर्व सीएम नीतीश कुमार को जाता है।

मौजूदा सरकार पूर्व सीएम नीतीश कुमार की ओर से अपनाई गई नीतियों का पालन करेगी। बैठक में पूर्व सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हमें एकजुटता प्रदिर्शत करनी होगी। हर दिन की अहिमयत है। सरकार अपनी बातों को मजबूती से सदन में रखे। सरकार को समर्थन दे रही पार्टियों के साथ समन्वय बनाने काजिंम्मा संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार को दिया गया। पूर्व सीएम ने कहा कि राज्यसभा उप चुनाव में भाजपा की साजिश विफल हुई। सदस्यों की सक्रियता के कारण ही जदयू को जीत मिली।

लेकिन, भाजपा ने घृणित काम किया। हम भाजपा की चुनौती को पार पाने में सफल हुए। गांधी ने सात पाप में पहला सिद्धांत विहिन राजनीति को बताया था। बागी विधायकों पर उन्होंने कहा कि दलबदल कानून का मूल तत्व आचरण है। पार्टी का रूख इस मामले में सही है। अगर किसी को लगता है कि वह अपना पक्ष सही तरीके से नहीं रख पा रहे हैं तो वे वकील भी रख सकते हैं। सुप्रीम कोर्ट तक इस मामले में फैसला दिया गया है।

बैठक में संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने भी अपने विचार रखे। बैठक में लगभग डेढ़ दर्जन विधायक को छोड़ सभी मंत्री व विधायक शामिल हुए।

बागी विधायकों पर होगी कार्रवाई

जदयू विधायक दल की बैठक में मीना द्विवेदी, अमला देवी, रेणु कुशवाहा व पूनम यादव शामिल हुईं। अनु शुक्ला व कौशल यादव सहित एक-दो अन्य विधायकों ने बैठक में नहीं आने की सूचना फोन पर दी। ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू, रवींद्र राय, राहुल शर्मा, नीरज कुमार सिंह, राजू कुमार सिंह, अजीत कुमार, सुरेश चंचल, राजेश्वर राज, पूनम देवी, दिनेश प्रसाद सिंह जैसे बागी विधायक दल की बैठक से नदारद रहे।

बागी विधायकों का नेतृत्व कर रहे ज्ञानेन्द्र सिंह ज्ञानू ने 18 विधायकों के बैठक में शामिल नहीं होने का दावा किया। वहीं, संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि चार विधायकों पर कार्रवाई शुरू हुई है। दूसरे चरण में चार-पांच और विधायकों पर कार्रवाई की जाएगी। राज्यसभा उप चुनाव मेंजिंन लोगों ने दल के विरुद्ध काम किया है, जरूरत हुई तो तीसरे चरण में भी बागी विधायकों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:सदन में सजग, सतर्क व तत्पर रहें : जदयू