DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

राजधानी हादसे में घायल हुए यात्रियों से मिलेंगे सीआरएस

हाजीपुर। गोपाल तिवारी। सोनपुर-छपरा रेलखंड पर 24 जून को हए राजधानी एक्सप्रेस हादसे की जांच पूर्वी जोन के सीआरएस पीके वाजपेयी मंगलवार को भी करेंगे। सीआरएस श्रमजीवी एक्सप्रेस से सीधे पटना आएंगे। उसके बाद वे सीधे घायलों के पास जाएंगे। पांच घायल यात्री पटना के दो अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती हैं। उसके बाद वे चिडिम्याखाना के पास स्थित फॉरेंसिक लैब में जाएंगे।

वहां फॉरेंसिक डायरेक्टर से मिलकर दुर्घटना में फॉरेंसिक जांच की अद्यतन जानकारी लेंगे। उसके बाद वे इंक्वायरी के लिए दिन के ग्यारह बजे सोनपुर मंडल के मंडल कार्यालय के सभाकक्षा में पहुंचेंगे। 28 जून को जिन लोगों की इंक्वायरी नहीं हुई थी उनसे पूछताछ करेंगे। इस जांच में रेलवे बोर्ड से अधिकृत पूर्व मध्य रेल के मुख्य सुरक्षा आयुक्त सह महानिरीक्षक अतुल पाठक भी शामिल किए गए हैं। सीआरएस के साथ वे भी इंक्वायरी में रहेंगे। वे अपनी जांच रिपोर्ट रेलवे बोर्ड को सौंपेंगे।

सीआरएस और आईजी की रिपोर्ट रेल मंत्रालय में पहुंचने के बाद पता चलेगा कि राजधानी हादसे के लिए दोषी कौन है। दोनों पदाधिकारियों द्वारा अभी रिपोर्ट को लेकर पूरी गोपनीयता रखी जा रही है ताकि आगे की कार्रवाई रेलवे बोर्ड द्वारा की जा सके। रेलवे सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सीआरएस सुबह पटना में पहुंचने के बाद उनके साथ पूर्व मध्य रेल के चीफ सेफ्टी ऑफसिरे कौशिक कुमार मुखोपाध्याय, आरपीएफ के डीआईजी वीरेन्द्र कुमार और सोनपुर मंडल के सीनियर डीसीएम बीएनपी वर्मा मौजूद रहेंगे।

दो घायल पटना रेलवे सेन्ट्रल हॉस्पीटल में भर्ती हैं और तीन घायल राजाबाजार स्थित हई अस्पताल में भर्ती हैं। इंक्वायरी के दायरे में गंभीर रूप से घायल यात्री भी हैं। इसलिए सीआरएस सुबह में दो अस्पतालों में सबसे पहले घायलों से मिलेंगे। उनसे बातचीत करेंगे और उनका बयान रिकार्ड करेंगे। घटनास्थल से फॉरेंसिक जांच के लिए लाए सामान की जांच के लिए सीआरएस चिडिम्याखाना के समीप स्थित फॉरेंसिक लैब जाएंगे। अब तक की जांच रिपोर्ट की जानकारी वहां के डायरेक्टर से लेंगे।

उस रिपोर्ट को इंक्वायरी में मेंशन करेंगे। उसके बाद वे सोनपुर रेल मंडल कार्यालय पहुंचेंगे। डीआरएम के सभाकक्ष में वे शेष रेलकर्मियों से हादसे के संबंध में पूछताछ करेंगे। पूर्व मध्य रेल के जीएम इस जांच से रहेंगे अलगराजधानी एक्सप्रेस हादसे की जांच में पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक मधुरेश कुमार को रेल मंत्रालय ने अलग रखा है। इस हादसे की जांच मंत्रालय से सीधे सीआरएस और पूर्व मध्य रेल के मुख्य सुरक्षा आयुक्त सह महानिरीक्षक अतुल पाठक को दी गई है।

सीआएस को सहयोग करने के लिए पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक की ओर से प्रतिनिधि के रूप में चीफ सेफ्टी ऑफसिरे को लगाया गया है। वे सीआरएस और मुख्य सुरक्षा आयुक्त की इंक्वायरी में सहयोग करेंगे। जानकारी हो कि पहले कहीं रेल हादसा होने पर उस जोन के महाप्रबंधक और सीआरएस से संयुक्त रूप से इंक्वायरी करायी जाती थी लेकिन इस बार रेल मंत्रालय ने राजधानी एक्सप्रेस हादसे में पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक को अलग रखा है।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:राजधानी हादसे में घायल हुए यात्रियों से मिलेंगे सीआरएस